Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
9 Aug 2023 · 1 min read

Tu wakt hai ya koi khab mera

Tu wakt hai ya koi khab mera
Tu sajish hai ya koi duwa
Tu hai koi ret ya koi kila
Jo milta hai har roj mujhe.
Tu shame hai ya koi subah
Tu bate hai ya koi raza,
Tu mera kona hai koi
Ya pura hissa mera
Tu milta hai har roj mujhe.
Tu wajah hai duniya ki mere
Ya puri meri duniya
Tu jo bhi hai bda sukun deta hai
Tu milta hai har roj mujhe .
Aur milkar mujhse ye kahta hai
Ki mai sase hu teri
Aur tu mujhme jinda rahta hai

2 Comments · 300 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
" करवा चौथ वाली मेहंदी "
Dr Meenu Poonia
बीमार समाज के मसीहा: डॉ अंबेडकर
बीमार समाज के मसीहा: डॉ अंबेडकर
Shekhar Chandra Mitra
है धरा पर पाप का हर अभिश्राप बाकी!
है धरा पर पाप का हर अभिश्राप बाकी!
Bodhisatva kastooriya
*चाय भगोने से बाहर यदि, आ जाए तो क्या कहने 【हास्य हिंदी गजल/
*चाय भगोने से बाहर यदि, आ जाए तो क्या कहने 【हास्य हिंदी गजल/
Ravi Prakash
सुर्ख चेहरा हो निगाहें भी शबाब हो जाए ।
सुर्ख चेहरा हो निगाहें भी शबाब हो जाए ।
Phool gufran
जल रहें हैं, जल पड़ेंगे और जल - जल   के जलेंगे
जल रहें हैं, जल पड़ेंगे और जल - जल के जलेंगे
सिद्धार्थ गोरखपुरी
फेसबुक
फेसबुक
डॉ विजय कुमार कन्नौजे
पानीपुरी (व्यंग्य)
पानीपुरी (व्यंग्य)
सत्यम प्रकाश 'ऋतुपर्ण'
भोले शंकर ।
भोले शंकर ।
Anil Mishra Prahari
दूसरों को देते हैं ज्ञान
दूसरों को देते हैं ज्ञान
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
जिधर भी देखो , हर तरफ़ झमेले ही झमेले है,
जिधर भी देखो , हर तरफ़ झमेले ही झमेले है,
_सुलेखा.
सफल हस्ती
सफल हस्ती
Praveen Sain
Har Ghar Tiranga
Har Ghar Tiranga
Tushar Jagawat
अभिव्यक्ति की सामरिकता - भाग 05 Desert Fellow Rakesh Yadav
अभिव्यक्ति की सामरिकता - भाग 05 Desert Fellow Rakesh Yadav
Desert fellow Rakesh
***
*** " कभी-कभी...! " ***
VEDANTA PATEL
वो मुझे
वो मुझे "चिराग़" की ख़ैरात" दे रहा है
Dr Tabassum Jahan
तुझसें में क्या उम्मीद करू कोई ,ऐ खुदा
तुझसें में क्या उम्मीद करू कोई ,ऐ खुदा
Sonu sugandh
मनुष्य को
मनुष्य को
ओंकार मिश्र
मैकदे को जाता हूँ,
मैकदे को जाता हूँ,
Satish Srijan
दोहे तरुण के।
दोहे तरुण के।
Pankaj sharma Tarun
"कमल"
Dr. Kishan tandon kranti
Canine Friends
Canine Friends
Dhriti Mishra
नारी....एक सच
नारी....एक सच
Neeraj Agarwal
#डॉ अरुण कुमार शास्त्री
#डॉ अरुण कुमार शास्त्री
DR ARUN KUMAR SHASTRI
*** मुफ़लिसी ***
*** मुफ़लिसी ***
Chunnu Lal Gupta
अनजान राहें अनजान पथिक
अनजान राहें अनजान पथिक
SATPAL CHAUHAN
सियासी खेल
सियासी खेल
AmanTv Editor In Chief
2388.पूर्णिका
2388.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
ज़िन्दगी
ज़िन्दगी
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
शायद शब्दों में भी
शायद शब्दों में भी
Dr Manju Saini
Loading...