Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
11 May 2024 · 1 min read

There are instances that people will instantly turn their ba

There are instances that people will instantly turn their back once they feel that you’re no longer beneficial for them. That you no longer fill their cups, or that you’re not the center of their world anymore. If that thing happens, don’t ever chase them. Run back to yourself, do that as if it’s a necessity.

It’s the reality, people don’t stay. There’s no such thing as forcing anyone to stick with you. Time always comes for their disappearance regardless of how deep your connection is.

So when this happens to you, I hope you won’t let yourself tear apart and beg for them to stay. Always look back for yourself, always brace yourself anytime because the people who meant the world to you, might disappear.

That’s the reality, so always look for yourself.

40 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
सच और झूँठ
सच और झूँठ
विजय कुमार अग्रवाल
मकरंद
मकरंद
विनोद वर्मा ‘दुर्गेश’
आविष्कार एक स्वर्णिम अवसर की तलाश है।
आविष्कार एक स्वर्णिम अवसर की तलाश है।
Rj Anand Prajapati
समय और मौसम सदा ही बदलते रहते हैं।इसलिए स्वयं को भी बदलने की
समय और मौसम सदा ही बदलते रहते हैं।इसलिए स्वयं को भी बदलने की
ओम प्रकाश श्रीवास्तव
सेवा
सेवा
ओंकार मिश्र
दोहा- अभियान
दोहा- अभियान
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
.........?
.........?
शेखर सिंह
जब कभी प्यार  की वकालत होगी
जब कभी प्यार की वकालत होगी
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
क्या ये गलत है ?
क्या ये गलत है ?
Rakesh Bahanwal
जुगनू
जुगनू
Dr. Pradeep Kumar Sharma
#लानत_के_साथ...
#लानत_के_साथ...
*प्रणय प्रभात*
रखो कितनी भी शराफत वफा सादगी
रखो कितनी भी शराफत वफा सादगी
Mahesh Tiwari 'Ayan'
श्री राम अयोध्या आए है
श्री राम अयोध्या आए है
जगदीश लववंशी
*नई सदी में चल रहा, शिक्षा का व्यापार (दस दोहे)*
*नई सदी में चल रहा, शिक्षा का व्यापार (दस दोहे)*
Ravi Prakash
मोरे मन-मंदिर....।
मोरे मन-मंदिर....।
Kanchan Khanna
कागज़ पे वो शब्दों से बेहतर खेल पाते है,
कागज़ पे वो शब्दों से बेहतर खेल पाते है,
ओसमणी साहू 'ओश'
न कुछ पानें की खुशी
न कुछ पानें की खुशी
Sonu sugandh
हरसिंगार
हरसिंगार
Shweta Soni
हर कस्बे हर मोड़ पर,
हर कस्बे हर मोड़ पर,
sushil sarna
स्मृति शेष अटल
स्मृति शेष अटल
कार्तिक नितिन शर्मा
★किसान ★
★किसान ★
★ IPS KAMAL THAKUR ★
ରାତ୍ରିର ବିଳାପ
ରାତ୍ରିର ବିଳାପ
Bidyadhar Mantry
द्रुत विलम्बित छंद (गणतंत्रता दिवस)-'प्यासा
द्रुत विलम्बित छंद (गणतंत्रता दिवस)-'प्यासा"
Vijay kumar Pandey
आग हूं... आग ही रहने दो।
आग हूं... आग ही रहने दो।
अनिल "आदर्श"
3358.⚘ *पूर्णिका* ⚘
3358.⚘ *पूर्णिका* ⚘
Dr.Khedu Bharti
राम की रहमत
राम की रहमत
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
Whenever things got rough, instinct led me to head home,
Whenever things got rough, instinct led me to head home,
Manisha Manjari
कृष्ण सा हैं प्रेम मेरा
कृष्ण सा हैं प्रेम मेरा
The_dk_poetry
जब आए शरण विभीषण तो प्रभु ने लंका का राज दिया।
जब आए शरण विभीषण तो प्रभु ने लंका का राज दिया।
Prabhu Nath Chaturvedi "कश्यप"
लोग टूट जाते हैं अपनों को मनाने में,
लोग टूट जाते हैं अपनों को मनाने में,
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
Loading...