Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
14 Mar 2023 · 1 min read

Tajposhi ki rasam ho rhi hai

Tajposhi ki rasam ho rhi hai
Ek bhediya ki giddha se mulakat ho rhi h
Sikar hua sara ye jamana
Fir bhi phoolo ki barsat ho rhi h 😍 by sakshi

451 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
बावन यही हैं वर्ण हमारे
बावन यही हैं वर्ण हमारे
Jatashankar Prajapati
है वही, बस गुमराह हो गया है…
है वही, बस गुमराह हो गया है…
Anand Kumar
माँ काली
माँ काली
Sidhartha Mishra
रिश्तों में परीवार
रिश्तों में परीवार
Anil chobisa
Kalebs Banjo
Kalebs Banjo
shivanshi2011
*माता (कुंडलिया)*
*माता (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
मिलेंगे कल जब हम तुम
मिलेंगे कल जब हम तुम
gurudeenverma198
सद्विचार
सद्विचार
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
जब भी सोचता हूं, कि मै ने‌ उसे समझ लिया है तब तब वह मुझे एहस
जब भी सोचता हूं, कि मै ने‌ उसे समझ लिया है तब तब वह मुझे एहस
पूर्वार्थ
लेखक कौन ?
लेखक कौन ?
Yogi Yogendra Sharma : Motivational Speaker
तुम जो आसमान से
तुम जो आसमान से
SHAMA PARVEEN
विकल्प
विकल्प
Dr.Priya Soni Khare
मातु शारदे करो कल्याण....
मातु शारदे करो कल्याण....
डॉ.सीमा अग्रवाल
सत्य न्याय प्रेम प्रतीक जो
सत्य न्याय प्रेम प्रतीक जो
Dr.Pratibha Prakash
गर्म हवाएं चल रही, सूरज उगले आग।।
गर्म हवाएं चल रही, सूरज उगले आग।।
Manoj Mahato
जीवन दिव्य बन जाता
जीवन दिव्य बन जाता
निरंजन कुमार तिलक 'अंकुर'
मेरी हस्ती
मेरी हस्ती
Shyam Sundar Subramanian
*भिन्नात्मक उत्कर्ष*
*भिन्नात्मक उत्कर्ष*
DR ARUN KUMAR SHASTRI
हो भासा विग्यानी।
हो भासा विग्यानी।
Acharya Rama Nand Mandal
किसी को दिल में बसाना बुरा तो नहीं
किसी को दिल में बसाना बुरा तो नहीं
Ram Krishan Rastogi
नौकरी (२)
नौकरी (२)
अभिषेक पाण्डेय 'अभि ’
जब तुम एक बड़े मकसद को लेकर चलते हो तो छोटी छोटी बाधाएं तुम्
जब तुम एक बड़े मकसद को लेकर चलते हो तो छोटी छोटी बाधाएं तुम्
Drjavedkhan
गम के दिनों में साथ कोई भी खड़ा न था।
गम के दिनों में साथ कोई भी खड़ा न था।
सत्य कुमार प्रेमी
ग़ज़ल
ग़ज़ल
ईश्वर दयाल गोस्वामी
गीता, कुरान ,बाईबल, गुरु ग्रंथ साहिब
गीता, कुरान ,बाईबल, गुरु ग्रंथ साहिब
Harminder Kaur
// माँ की ममता //
// माँ की ममता //
Shivkumar barman
"चलना"
Dr. Kishan tandon kranti
आंखों में
आंखों में
Dr fauzia Naseem shad
मुझमें एक जन सेवक है,
मुझमें एक जन सेवक है,
Punam Pande
■ क़तआ (मुक्तक)
■ क़तआ (मुक्तक)
*Author प्रणय प्रभात*
Loading...