Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
25 Feb 2023 · 1 min read

Sharminda kyu hai mujhse tu aye jindagi,

Sharminda kyu hai mujhse tu aye jindagi,
Tujhse mere kayi intkam baki hai .
Khuch wakt ke liye khamosh baithi hu to kya,
Mere hauslo me abhi , kayi udan baki hai .😍
By sakshi

Language: Hindi
113 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
पैसे का खेल
पैसे का खेल
Shekhar Chandra Mitra
"जंगल की सैर"
पंकज कुमार कर्ण
औकात
औकात
साहित्य गौरव
जो गिर गिर कर उठ जाते है, जो मुश्किल से न घबराते है,
जो गिर गिर कर उठ जाते है, जो मुश्किल से न घबराते है,
अनूप अम्बर
💐Prodigy Love-15💐
💐Prodigy Love-15💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
संपूर्ण गीता : एक अध्ययन
संपूर्ण गीता : एक अध्ययन
Ravi Prakash
इश्क़ इबादत
इश्क़ इबादत
DR ARUN KUMAR SHASTRI
माँ
माँ
नन्दलाल सुथार "राही"
फिर भी करना है संघर्ष !
फिर भी करना है संघर्ष !
जगदीश लववंशी
कैसी पूजा फिर कैसी इबादत आपकी
कैसी पूजा फिर कैसी इबादत आपकी
Dr fauzia Naseem shad
"कूँचे गरीब के"
Ekta chitrangini
पटेबाज़
पटेबाज़
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
मौसम ने भी ली अँगड़ाई, छेड़ रहा है राग।
मौसम ने भी ली अँगड़ाई, छेड़ रहा है राग।
डॉ.सीमा अग्रवाल
मेरे पापा आज तुम लोरी सुना दो
मेरे पापा आज तुम लोरी सुना दो
Satish Srijan
यह कब जान पाता है एक फूल,
यह कब जान पाता है एक फूल,
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
कांटों में जो फूल.....
कांटों में जो फूल.....
Vijay kumar Pandey
घर बन रहा है
घर बन रहा है
रोहताश वर्मा मुसाफिर
अटल-अवलोकन
अटल-अवलोकन
नन्दलाल सिंह 'कांतिपति'
सुना है सकपने सच होते हैं-कविता
सुना है सकपने सच होते हैं-कविता
Shyam Pandey
इश्क़ का दस्तूर
इश्क़ का दस्तूर
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
जीवन के इस लंबे सफर में आशा आस्था अटूट विश्वास बनाए रखिए,उम्
जीवन के इस लंबे सफर में आशा आस्था अटूट विश्वास बनाए रखिए,उम्
Shashi kala vyas
रिश्ते-नाते गौण हैं, अर्थ खोय परिवार
रिश्ते-नाते गौण हैं, अर्थ खोय परिवार
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
" जब तुम्हें प्रेम हो जाएगा "
Aarti sirsat
दुविधा
दुविधा
Shyam Sundar Subramanian
आई होली
आई होली
Kavita Chouhan
छोड़ दूं क्या.....
छोड़ दूं क्या.....
Ravi Ghayal
संगति
संगति
Buddha Prakash
दोष उनका कहां जो पढ़े कुछ नहीं,
दोष उनका कहां जो पढ़े कुछ नहीं,
सत्येन्द्र पटेल ‘प्रखर’
#दीनता_की_कहानी_कहूँ_और_क्या....!!
#दीनता_की_कहानी_कहूँ_और_क्या....!!
संजीव शुक्ल 'सचिन'
★SFL 24×7★
★SFL 24×7★
*Author प्रणय प्रभात*
Loading...