Jan 1, 2022 · 1 min read

My Expressions

Helping others is a noble activity, but it should be selective to individuals; who deserve it and in dire need of such help, otherwise general help to undeserving people make them lethargic and dependent on others.

101 Views
You may also like:
【30】*!* गैया मैया कृष्ण कन्हैया *!*
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
सेमल के वृक्ष...!
मनोज कर्ण
ग्रीष्म ऋतु भाग ३
Vishnu Prasad 'panchotiya'
मन को मोह लेते हैं।
Taj Mohammad
श्री राम
नवीन जोशी 'नवल'
यादों का मंजर
Mahesh Tiwari 'Ayen'
मां-बाप
Taj Mohammad
वार्तालाप….
Piyush Goel
सच का सामना
Shyam Sundar Subramanian
प्यार के फूल....
Dr. Alpa H.
अशोक विश्नोई एक विलक्षण साधक (पुस्तक समीक्षा)
Ravi Prakash
कभी सोचा ना था मैंने मोहब्बत में ये मंजर भी...
Krishan Singh
दादी मां बहुत याद आई
VINOD KUMAR CHAUHAN
*साधुता और सद्भाव के पर्याय श्री निर्भय सरन गुप्ता :...
Ravi Prakash
नर्सिंग दिवस पर नमन
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
कुछ दिन की है बात ,सभी जन घर में रह...
Pt. Brajesh Kumar Nayak
हनुमान जी वंदना ।। अंजनी सुत प्रभु, आप तो विशिष्ट...
Kuldeep mishra (KD)
हम भी है आसमां।
Taj Mohammad
पिता श्रेष्ठ है इस दुनियां में जीवन देने वाला है
सतीश मिश्र "अचूक"
मै जलियांवाला बाग बोल रहा हूं
Ram Krishan Rastogi
मूक हुई स्वर कोकिला
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
परिवर्तन की राह पकड़ो ।
Buddha Prakash
समुंदर बेच देता है
आकाश महेशपुरी
Life through the window during lockdown
ASHISH KUMAR SINGH 9A
हमारे जीवन में "पिता" का साया
इंजी. लोकेश शर्मा (लेखक)
मुफ्तखोरी की हुजूर हद हो गई है
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
ना कर गुरुर जिंदगी पर इतना भी
VINOD KUMAR CHAUHAN
"पिता और शौर्य"
Lohit Tamta
केंचुआ
Buddha Prakash
क्या यही शिक्षामित्रों की है वो ख़ता
आकाश महेशपुरी
Loading...