Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
21 May 2024 · 1 min read

*Lesser expectations*

Let’s do things ourselves and not complain.
Lesser the expectations we keep, lesser is the pain.
The journey up the hill mightn’t be easy, but
When we reach the summit, it’s our efforts, our gain.

1 Like · 495 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Poonam Matia
View all
You may also like:
अपनी गलती से कुछ नहीं सीखना
अपनी गलती से कुछ नहीं सीखना
Paras Nath Jha
निकाल देते हैं
निकाल देते हैं
Sûrëkhâ
🙅कमिंग सून🙅
🙅कमिंग सून🙅
*प्रणय प्रभात*
जीवन पथ पर सब का अधिकार
जीवन पथ पर सब का अधिकार
गायक - लेखक अजीत कुमार तलवार
उफ़ ये अदा
उफ़ ये अदा
Surinder blackpen
मेरी कविताएं पढ़ लेना
मेरी कविताएं पढ़ लेना
Satish Srijan
✍️ D. K 27 june 2023
✍️ D. K 27 june 2023
The_dk_poetry
"शुभचिन्तक"
Dr. Kishan tandon kranti
संतोष धन
संतोष धन
Sanjay ' शून्य'
जिज्ञासा
जिज्ञासा
Neeraj Agarwal
ज़रूरतमंद की मदद
ज़रूरतमंद की मदद
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
वचन सात फेरों का
वचन सात फेरों का
लक्ष्मी वर्मा प्रतीक्षा
आगमन राम का सुनकर फिर से असुरों ने उत्पात किया।
आगमन राम का सुनकर फिर से असुरों ने उत्पात किया।
Prabhu Nath Chaturvedi "कश्यप"
ममतामयी मां
ममतामयी मां
Santosh kumar Miri
* पिता पुत्र का अनोखा रिश्ता*
* पिता पुत्र का अनोखा रिश्ता*
पूर्वार्थ
सुन्दरता।
सुन्दरता।
Anil Mishra Prahari
थोड़ा सा अजनबी बन कर रहना तुम
थोड़ा सा अजनबी बन कर रहना तुम
शेखर सिंह
मेरे शीघ्र प्रकाश्य उपन्यास से -
मेरे शीघ्र प्रकाश्य उपन्यास से -
kaustubh Anand chandola
प्रदीप छंद
प्रदीप छंद
Seema Garg
कोई दरिया से गहरा है
कोई दरिया से गहरा है
कवि दीपक बवेजा
मौनता  विभेद में ही अक्सर पायी जाती है , अपनों में बोलने से
मौनता विभेद में ही अक्सर पायी जाती है , अपनों में बोलने से
DrLakshman Jha Parimal
*फ़र्ज*
*फ़र्ज*
Harminder Kaur
*सरल हृदय श्री सत्य प्रकाश शर्मा जी*
*सरल हृदय श्री सत्य प्रकाश शर्मा जी*
Ravi Prakash
प्रकृति की ओर
प्रकृति की ओर
जगदीश लववंशी
सत्य कभी निरभ्र नभ-सा
सत्य कभी निरभ्र नभ-सा
Suman (Aditi Angel 🧚🏻)
बुद्ध की राह में चलने लगे ।
बुद्ध की राह में चलने लगे ।
Buddha Prakash
तनावमुक्त
तनावमुक्त
Kanchan Khanna
कहीं फूलों की बारिश है कहीं पत्थर बरसते हैं
कहीं फूलों की बारिश है कहीं पत्थर बरसते हैं
Phool gufran
शिव
शिव
Dr. Vaishali Verma
#शीर्षक;-ले लो निज अंक मॉं
#शीर्षक;-ले लो निज अंक मॉं
Pratibha Pandey
Loading...