Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
25 Sep 2023 · 1 min read

Kavita

तू मुक़द्दस है मेरे लिये
ज़िन्दगी तुझ को सलाम

अस्सलामो अलैकुम! !
दिल नशीँ राम! राम!

उन्स है इन्सान हूँ
है अमन अपना पयाम

फ़र्क क्यो पड़ता है यारो
चन्द्र हो या चान्द नाम

है सनातन शाशवत् जब
और यही पूर्ण विराम!!

आयतेँ हों श्लोक हो या
संस्तुति उसका ।ही गान

आराधना तेरा करम है
स्वीकारना उसका है काम

सत्य के साथी बनो तुम
झूठ के ना जाओ धाम

उसके सिवा दुनिया में क्या
सुबहा क्या और क्या है शाम

है समन्दर जैसे ठहरा
है हदों में आसमां

ये हवाये जैसे शीतल
बूंदो का ये कारवां

अग्नि पावक जैसे पावन
आकाश भित्ती का मक़ाम

मेरा मन उसको पुकारे
लम्हा लम्हा गाम गाम

अस्सलामोअलैकुम
दिल नशीं है राम राम!

शहाबुद्दीन”क़न्नौजी

Language: Hindi
94 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
डॉ अरूण कुमार शास्त्री
डॉ अरूण कुमार शास्त्री
DR ARUN KUMAR SHASTRI
The only difference between dreams and reality is perfection
The only difference between dreams and reality is perfection
सिद्धार्थ गोरखपुरी
झोली मेरी प्रेम की
झोली मेरी प्रेम की
Sandeep Pande
शमशान की राख देखकर मन में एक खयाल आया
शमशान की राख देखकर मन में एक खयाल आया
शेखर सिंह
कलम के सहारे आसमान पर चढ़ना आसान नहीं है,
कलम के सहारे आसमान पर चढ़ना आसान नहीं है,
Dr Nisha nandini Bhartiya
#लघुकथा-
#लघुकथा-
*Author प्रणय प्रभात*
सफ़र आसान हो जाए मिले दोस्त ज़बर कोई
सफ़र आसान हो जाए मिले दोस्त ज़बर कोई
आर.एस. 'प्रीतम'
प्रयास सदैव उचित और पूर्ण हो,
प्रयास सदैव उचित और पूर्ण हो,
Buddha Prakash
पंक्षी पिंजरों में पहुँच, दिखते अधिक प्रसन्न ।
पंक्षी पिंजरों में पहुँच, दिखते अधिक प्रसन्न ।
Arvind trivedi
तुम्हें भूल नहीं सकता कभी
तुम्हें भूल नहीं सकता कभी
gurudeenverma198
*हुआ देश आजाद तिरंगा, लहर-लहर लहराता (देशभक्ति गीत)*
*हुआ देश आजाद तिरंगा, लहर-लहर लहराता (देशभक्ति गीत)*
Ravi Prakash
मैं भारत हूं
मैं भारत हूं
Ms.Ankit Halke jha
💐प्रेम कौतुक-431💐
💐प्रेम कौतुक-431💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
बड़ी बात है ....!!
बड़ी बात है ....!!
हरवंश हृदय
सागर
सागर
नूरफातिमा खातून नूरी
बदल गए तुम
बदल गए तुम
Kumar Anu Ojha
"कोढ़े की रोटी"
Dr. Kishan tandon kranti
23/201. *छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
23/201. *छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
भौतिकता
भौतिकता
लक्ष्मी सिंह
"पहले मुझे लगता था कि मैं बिका नही इसलिए सस्ता हूँ
दुष्यन्त 'बाबा'
दिल के सभी
दिल के सभी
Dr fauzia Naseem shad
हे माँ अम्बे रानी शेरावाली
हे माँ अम्बे रानी शेरावाली
Basant Bhagawan Roy
दिल का हर अरमां।
दिल का हर अरमां।
Taj Mohammad
मां ने जब से लिख दिया, जीवन पथ का गीत।
मां ने जब से लिख दिया, जीवन पथ का गीत।
Suryakant Dwivedi
श्राद्ध ही रिश्तें, सिच रहा
श्राद्ध ही रिश्तें, सिच रहा
Anil chobisa
*** हम दो राही....!!! ***
*** हम दो राही....!!! ***
VEDANTA PATEL
कविता - 'टमाटर की गाथा
कविता - 'टमाटर की गाथा"
Anand Sharma
सर्दी में कोहरा गिरता है बरसात में पानी।
सर्दी में कोहरा गिरता है बरसात में पानी।
ख़ान इशरत परवेज़
Finding alternative  is not as difficult as becoming alterna
Finding alternative is not as difficult as becoming alterna
Sakshi Tripathi
श्री राम राज्याभिषेक
श्री राम राज्याभिषेक
नवीन जोशी 'नवल'
Loading...