Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
3 Mar 2023 · 1 min read

Jin kandho par bachpan bita , us kandhe ka mol chukana hai,

Jin kandho par bachpan bita , us kandhe ka mol chukana hai,
Maan ke sari reet parayi , babul ka ghr chhod kr jana hai.
Jis jhule ko apna samjha , uss dal se alag ho jana hai .
Maan ke sari reet parayi , betiya se ab bahu , bahu kahlana hai 😍.
By sakshi

101 Views
Join our official announcements group on Whatsapp & get all the major updates from Sahityapedia directly on Whatsapp.
You may also like:
मौन
मौन
Shyam Sundar Subramanian
करतूतें किस को बतलाएं
करतूतें किस को बतलाएं
*Author प्रणय प्रभात*
स्थायित्व (Stability)
स्थायित्व (Stability)
Shyam Pandey
*सभी ने सत्य यह माना, सभी को एक दिन जाना ((हिंदी गजल/ गीतिका
*सभी ने सत्य यह माना, सभी को एक दिन जाना ((हिंदी गजल/ गीतिका
Ravi Prakash
★उसकी यादों का साया★
★उसकी यादों का साया★
★ IPS KAMAL THAKUR ★
बचपन
बचपन
लक्ष्मी सिंह
पटेबाज़
पटेबाज़
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
महाभारत युद्ध
महाभारत युद्ध
Anil chobisa
दुआ पर लिखे अशआर
दुआ पर लिखे अशआर
Dr fauzia Naseem shad
शुभोदर छंद(नवाक्षरवृति वार्णिक छंद)
शुभोदर छंद(नवाक्षरवृति वार्णिक छंद)
Neelam Sharma
लड़ते रहो
लड़ते रहो
Vivek Pandey
मिल जाते हैं राहों में वे अकसर ही आजकल।
मिल जाते हैं राहों में वे अकसर ही आजकल।
Prabhu Nath Chaturvedi
पहला प्यार
पहला प्यार
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
तेरी चाहत का कैदी
तेरी चाहत का कैदी
N.ksahu0007@writer
एक अच्छी हीलर, उपचारक होती हैं स्त्रियां
एक अच्छी हीलर, उपचारक होती हैं स्त्रियां
Manu Vashistha
अपनी सीमाओं को लांगा
अपनी सीमाओं को लांगा
कवि दीपक बवेजा
दिल्ली चलअ
दिल्ली चलअ
Shekhar Chandra Mitra
कविता ही हो /
कविता ही हो /
ईश्वर दयाल गोस्वामी
अमृता
अमृता
Surinder blackpen
जीतना
जीतना
Shutisha Rajput
"विश्व हिन्दी दिवस 10 जनवरी 2023"
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
प्यार लिक्खे खतों की इबारत हो तुम।
प्यार लिक्खे खतों की इबारत हो तुम।
सत्येन्द्र पटेल ‘प्रखर’
नारी
नारी
डॉ प्रवीण ठाकुर
डरने लगता हूँ...
डरने लगता हूँ...
Aadarsh Dubey
शुभ हो अक्षय तृतीया सभी को, मंगल सबका हो जाए
शुभ हो अक्षय तृतीया सभी को, मंगल सबका हो जाए
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
जंगल की होली
जंगल की होली
Dr Archana Gupta
51-   सुहाना
51- सुहाना
Rambali Mishra
आधा किस्सा आधा फसाना रह गया
आधा किस्सा आधा फसाना रह गया
ठाकुर प्रतापसिंह "राणाजी"
🌹ओ साहिब जी,तुम मेरे दिल में जँचे हो🌹
🌹ओ साहिब जी,तुम मेरे दिल में जँचे हो🌹
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
आज फिर किसी की बातों ने बहकाया है मुझे,
आज फिर किसी की बातों ने बहकाया है मुझे,
Vishal babu (vishu)
Loading...