Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
15 Feb 2023 · 1 min read

It’s not about you have said anything wrong its about you ha

It’s not about you have said anything wrong its about you haven’t said anything.

1 Like · 66 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
💐प्रेम कौतुक-379💐
💐प्रेम कौतुक-379💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
मन को कर देता हूँ मौसमो के साथ
मन को कर देता हूँ मौसमो के साथ
सुशील मिश्रा (क्षितिज राज)
मजदूर दिवस पर
मजदूर दिवस पर
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
आपकी कशिश
आपकी कशिश
Surya Barman
2234.
2234.
Dr.Khedu Bharti
फुटपाथों पर लोग रहेंगे
फुटपाथों पर लोग रहेंगे
Chunnu Lal Gupta
" अब मिलने की कोई आस न रही "
Aarti sirsat
मत बांटो इंसान को
मत बांटो इंसान को
विमला महरिया मौज
सलाम भी क़ुबूल है पयाम भी क़ुबूल है
सलाम भी क़ुबूल है पयाम भी क़ुबूल है
Anis Shah
गंवारा ना होगा हमें।
गंवारा ना होगा हमें।
Taj Mohammad
विनय
विनय
Kanchan Khanna
मुक्तक
मुक्तक
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
नव उल्लास होरी में.....!
नव उल्लास होरी में.....!
Awadhesh Kumar Singh
प्रेम की राख
प्रेम की राख
Buddha Prakash
■ कविता-
■ कविता-
*Author प्रणय प्रभात*
आज इस सूने हृदय में....
आज इस सूने हृदय में....
डॉ.सीमा अग्रवाल
"नारी जब माँ से काली बनी"
Ekta chitrangini
"श्रृंगार रस के दोहे"
लक्ष्मीकान्त शर्मा 'रुद्र'
दवा की तलाश में रहा दुआ को छोड़कर,
दवा की तलाश में रहा दुआ को छोड़कर,
Vishal babu (vishu)
बेटियाँ
बेटियाँ
लक्ष्मी सिंह
फाग (बुंदेली गीत)
फाग (बुंदेली गीत)
umesh mehra
फर्ज़ अदायगी (मार्मिक कहानी)
फर्ज़ अदायगी (मार्मिक कहानी)
Dr. Kishan Karigar
हिन्दी दोहा बिषय -हिंदी
हिन्दी दोहा बिषय -हिंदी
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
#सबक जिंदगी से #
#सबक जिंदगी से #
Ram Babu Mandal
जरूरत
जरूरत
DR ARUN KUMAR SHASTRI
लीकछोड़ ग़ज़ल
लीकछोड़ ग़ज़ल
Dr MusafiR BaithA
हृदय की कसक
हृदय की कसक
Dr. Rajiv
बवंडर
बवंडर
Shekhar Chandra Mitra
'उड़ान'
'उड़ान'
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
*छुट्टी गर्मी की हुई, वर्षा का आनंद (कुंडलिया / बाल कविता)*
*छुट्टी गर्मी की हुई, वर्षा का आनंद (कुंडलिया / बाल कविता)*
Ravi Prakash
Loading...