Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
10 Mar 2024 · 1 min read

“Do not be afraid of your difficulties. Do not wish you coul

“Do not be afraid of your difficulties. Do not wish you could be in other circumstances than you are. For when you have made the best of an adversity, it becomes the stepping stone to a splendid opportunity.”

1 Like · 50 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
3421⚘ *पूर्णिका* ⚘
3421⚘ *पूर्णिका* ⚘
Dr.Khedu Bharti
यहां कश्मीर है केदार है गंगा की माया है।
यहां कश्मीर है केदार है गंगा की माया है।
सत्य कुमार प्रेमी
आकाश दीप - (6 of 25 )
आकाश दीप - (6 of 25 )
Kshma Urmila
हम अरबी-फारसी के प्रचलित शब्दों को बिना नुक्ता लगाए प्रयोग क
हम अरबी-फारसी के प्रचलित शब्दों को बिना नुक्ता लगाए प्रयोग क
Ravi Prakash
अरे रामलला दशरथ नंदन
अरे रामलला दशरथ नंदन
Neeraj Mishra " नीर "
"बेचैनियाँ"
Dr. Kishan tandon kranti
बोलो राम राम
बोलो राम राम
नेताम आर सी
👌बोगस न्यूज़👌
👌बोगस न्यूज़👌
*प्रणय प्रभात*
अक्सर कोई तारा जमी पर टूटकर
अक्सर कोई तारा जमी पर टूटकर
'अशांत' शेखर
फूक मार कर आग जलाते है,
फूक मार कर आग जलाते है,
Buddha Prakash
यही रात अंतिम यही रात भारी।
यही रात अंतिम यही रात भारी।
Kumar Kalhans
आप में आपका
आप में आपका
Dr fauzia Naseem shad
तुम्हारे दीदार की तमन्ना
तुम्हारे दीदार की तमन्ना
Anis Shah
"वट वृक्ष है पिता"
Ekta chitrangini
पता नहीं किसने
पता नहीं किसने
Anil Mishra Prahari
जो जुल्फों के साये में पलते हैं उन्हें राहत नहीं मिलती।
जो जुल्फों के साये में पलते हैं उन्हें राहत नहीं मिलती।
Phool gufran
**माटी जन्मभूमि की**
**माटी जन्मभूमि की**
लक्ष्मण 'बिजनौरी'
इल्म
इल्म
Bodhisatva kastooriya
तनहाई
तनहाई
Sanjay ' शून्य'
राधा की भक्ति
राधा की भक्ति
Dr. Upasana Pandey
The destination
The destination
Bidyadhar Mantry
हिंदी है पहचान
हिंदी है पहचान
Seema gupta,Alwar
मै हिन्दी का शब्द हूं, तू गणित का सवाल प्रिये.
मै हिन्दी का शब्द हूं, तू गणित का सवाल प्रिये.
Vishal babu (vishu)
लोकतंत्र के प्रहरी
लोकतंत्र के प्रहरी
Dr Mukesh 'Aseemit'
तुझे भूलना इतना आसां नही है
तुझे भूलना इतना आसां नही है
Bhupendra Rawat
प्यार करता हूं और निभाना चाहता हूं
प्यार करता हूं और निभाना चाहता हूं
इंजी. संजय श्रीवास्तव
नारियां
नारियां
विनोद कृष्ण सक्सेना, पटवारी
मरने के बाद भी ठगे जाते हैं साफ दामन वाले
मरने के बाद भी ठगे जाते हैं साफ दामन वाले
Sandeep Kumar
एक मुट्ठी राख
एक मुट्ठी राख
Shekhar Chandra Mitra
उसका आना
उसका आना
हिमांशु Kulshrestha
Loading...