Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
15 May 2024 · 1 min read

3459🌷 *पूर्णिका* 🌷

3459🌷 पूर्णिका 🌷
जीत मिले किस्मत की बात है
22 2212 212
जीत मिले किस्मत की बात है ।
मीत मिले किस्मत की बात है ।।

बेगाने से जहाँ लोग है ।
प्रीत मिले किस्मत की बात है ।।

बजते जब बेसुरे साज भी।
गीत मिले किस्मत की बात है ।।

खाते हम बांट कर रोटियाँ ।
रीत मिले किस्मत की बात है ।।

करते परवाह खेदू तनिक ।
भीत मिले किस्मत की बात है ।।
…………✍ डॉ .खेदू भारती “सत्येश “
15-05-2024 बुधवार

19 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
3244.*पूर्णिका*
3244.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
#सुबह_की_प्रार्थना
#सुबह_की_प्रार्थना
*Author प्रणय प्रभात*
माँ का घर (नवगीत) मातृदिवस पर विशेष
माँ का घर (नवगीत) मातृदिवस पर विशेष
ईश्वर दयाल गोस्वामी
सारे नेता कर रहे, आपस में हैं जंग
सारे नेता कर रहे, आपस में हैं जंग
Dr Archana Gupta
ग़ज़ल/नज़्म - आज़ मेरे हाथों और पैरों में ये कम्पन सा क्यूँ है
ग़ज़ल/नज़्म - आज़ मेरे हाथों और पैरों में ये कम्पन सा क्यूँ है
अनिल कुमार
कौन सोचता....
कौन सोचता....
डॉ.सीमा अग्रवाल
सवाल
सवाल
Manisha Manjari
*सरकारी कार्यक्रम का पास (हास्य व्यंग्य)*
*सरकारी कार्यक्रम का पास (हास्य व्यंग्य)*
Ravi Prakash
तुम मेरी
तुम मेरी
हिमांशु Kulshrestha
हम फर्श पर गुमान करते,
हम फर्श पर गुमान करते,
Neeraj Agarwal
स्वयं का न उपहास करो तुम , स्वाभिमान की राह वरो तुम
स्वयं का न उपहास करो तुम , स्वाभिमान की राह वरो तुम
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
सितमज़रीफ़ी
सितमज़रीफ़ी
Atul "Krishn"
न शायर हूँ, न ही गायक,
न शायर हूँ, न ही गायक,
Satish Srijan
प्रकृति और तुम
प्रकृति और तुम
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
सजदे में सर झुका तो
सजदे में सर झुका तो
shabina. Naaz
कन्यादान
कन्यादान
Mukesh Kumar Sonkar
ज़िंदगी से शिकायत
ज़िंदगी से शिकायत
Dr fauzia Naseem shad
तुझे पन्नों में उतार कर
तुझे पन्नों में उतार कर
Seema gupta,Alwar
*बाल गीत (मेरा मन)*
*बाल गीत (मेरा मन)*
Rituraj shivem verma
गोवर्धन गिरधारी, प्रभु रक्षा करो हमारी।
गोवर्धन गिरधारी, प्रभु रक्षा करो हमारी।
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
कह दिया आपने साथ रहना हमें।
कह दिया आपने साथ रहना हमें।
surenderpal vaidya
एक हाथ में क़लम तो दूसरे में क़िताब रखते हैं!
एक हाथ में क़लम तो दूसरे में क़िताब रखते हैं!
The_dk_poetry
जवानी
जवानी
निरंजन कुमार तिलक 'अंकुर'
जन्म दिन
जन्म दिन
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
दोहा
दोहा
गुमनाम 'बाबा'
कुछ लिखा हैं तुम्हारे लिए, तुम सुन पाओगी क्या
कुछ लिखा हैं तुम्हारे लिए, तुम सुन पाओगी क्या
Writer_ermkumar
रिश्ता ये प्यार का
रिश्ता ये प्यार का
Mamta Rani
कविता-हमने देखा है
कविता-हमने देखा है
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
प्यार क्या है
प्यार क्या है
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
आइये, तिरंगा फहरायें....!!
आइये, तिरंगा फहरायें....!!
Kanchan Khanna
Loading...