Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
3 Apr 2024 · 1 min read

3231.*पूर्णिका*

3231.*पूर्णिका*
🌷 चाहते है खुशियां🌷
2122 22
चाहते है खुशियां ।
देखते है दुनिया।।
फासला हम न रखे ।
बस मिटे ये दुरियां ।।
पांव चूमे मंजिल ।
मेहनत यूं जरिया।।
नाव पतवार यहाँ ।
पार कर ले दरिया।।
साथ साथी खेदू।
काम भी हो बढिया।।
……..✍ डॉ. खेदू भारती “सत्येश”
03-04-2024बुधवार

36 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
*यदि उसे नजरों से गिराया नहीं होता*
*यदि उसे नजरों से गिराया नहीं होता*
sudhir kumar
*मन की पीड़ा मत कहो, जाकर हर घर-द्वार (कुंडलिया)*
*मन की पीड़ा मत कहो, जाकर हर घर-द्वार (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
पावस की ऐसी रैन सखी
पावस की ऐसी रैन सखी
लक्ष्मी सिंह
काग़ज़ पर उतार दो
काग़ज़ पर उतार दो
Surinder blackpen
शराब हो या इश्क़ हो बहकाना काम है
शराब हो या इश्क़ हो बहकाना काम है
सिद्धार्थ गोरखपुरी
तुम अभी आना नहीं।
तुम अभी आना नहीं।
Taj Mohammad
"यायावरी" ग़ज़ल
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
मारुति
मारुति
Kavita Chouhan
वर्तमान गठबंधन राजनीति के समीकरण - एक मंथन
वर्तमान गठबंधन राजनीति के समीकरण - एक मंथन
Shyam Sundar Subramanian
यक्ष प्रश्न है जीव के,
यक्ष प्रश्न है जीव के,
sushil sarna
चंदा मामा सुनो ना मेरी बात 🙏
चंदा मामा सुनो ना मेरी बात 🙏
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
मसरुफियत में आती है बे-हद याद तुम्हारी
मसरुफियत में आती है बे-हद याद तुम्हारी
Vishal babu (vishu)
दिखा तू अपना जलवा
दिखा तू अपना जलवा
gurudeenverma198
*खुशबू*
*खुशबू*
Shashi kala vyas
😢शर्मनाक😢
😢शर्मनाक😢
*Author प्रणय प्रभात*
सृष्टि का कण - कण शिवमय है।
सृष्टि का कण - कण शिवमय है।
Rj Anand Prajapati
*युद्ध*
*युद्ध*
DR ARUN KUMAR SHASTRI
बाबर के वंशज
बाबर के वंशज
हिमांशु बडोनी (दयानिधि)
नजर और नजरिया
नजर और नजरिया
Dr. Kishan tandon kranti
नफ़रत के सौदागर
नफ़रत के सौदागर
Shekhar Chandra Mitra
ग़ज़ल
ग़ज़ल
Mahendra Narayan
** सुख और दुख **
** सुख और दुख **
Swami Ganganiya
खून-पसीने के ईंधन से, खुद का यान चलाऊंगा,
खून-पसीने के ईंधन से, खुद का यान चलाऊंगा,
डॉ. अनिल 'अज्ञात'
अगर कभी मिलना मुझसे
अगर कभी मिलना मुझसे
Akash Agam
2913.*पूर्णिका*
2913.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
मानसिकता का प्रभाव
मानसिकता का प्रभाव
Anil chobisa
मुर्शिद क़दम-क़दम पर नये लोग मुन्तज़िर हैं हमारे मग़र,
मुर्शिद क़दम-क़दम पर नये लोग मुन्तज़िर हैं हमारे मग़र,
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
आज कुछ अजनबी सा अपना वजूद लगता हैं,
आज कुछ अजनबी सा अपना वजूद लगता हैं,
Jay Dewangan
ये पांच बातें
ये पांच बातें
Yash mehra
मेनका की ‘मी टू’
मेनका की ‘मी टू’
Dr. Pradeep Kumar Sharma
Loading...