Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
28 Mar 2024 · 1 min read

3200.*पूर्णिका*

3200.*पूर्णिका*
🌷 साथी बन जो चला करते🌷
22 2212 22
साथी बन जो चला करते।
अपना ही वो भला करते।।
बदले तकदीर जब देखो।
गैरों को तो खला करते।।
चांद जहाँ चांदनी प्यारी ।
दीया दिल का जला करते।।
थामे अपना यहाँ दामन ।
न कभी छलिया छ्ला करते ।।
खुशियाँ झूमें हसीं खेदू।
सुंदर सपनें पला करते।।
…………✍ डॉ .खेदूभारती”सत्येश”
28-03-2024गुरुवार

51 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
बाल एवं हास्य कविता: मुर्गा टीवी लाया है।
बाल एवं हास्य कविता: मुर्गा टीवी लाया है।
Rajesh Kumar Arjun
🥀* अज्ञानी की कलम*🥀
🥀* अज्ञानी की कलम*🥀
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
इश्क़ में सरेराह चलो,
इश्क़ में सरेराह चलो,
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
Live in Present
Live in Present
Satbir Singh Sidhu
मन-गगन!
मन-गगन!
Priya princess panwar
कोतवाली
कोतवाली
Dr. Pradeep Kumar Sharma
विचार पसंद आए _ पढ़ लिया कीजिए ।
विचार पसंद आए _ पढ़ लिया कीजिए ।
Rajesh vyas
खींच तान के बात को लम्बा करना है ।
खींच तान के बात को लम्बा करना है ।
Moin Ahmed Aazad
गुरूर चाँद का
गुरूर चाँद का
Satish Srijan
"रचो ऐसा इतिहास"
Dr. Kishan tandon kranti
मेरे सपनों का भारत
मेरे सपनों का भारत
Neelam Sharma
वक़्त है तू
वक़्त है तू
Dr fauzia Naseem shad
#सुबह_की_प्रार्थना
#सुबह_की_प्रार्थना
*प्रणय प्रभात*
मुस्कुराने लगे है
मुस्कुराने लगे है
Paras Mishra
किसी के दिल में चाह तो ,
किसी के दिल में चाह तो ,
Manju sagar
मेरी जिंदगी
मेरी जिंदगी
ओनिका सेतिया 'अनु '
समर्पण.....
समर्पण.....
sushil sarna
"अंधविश्वास में डूबा हुआ व्यक्ति आंखों से ही अंधा नहीं होता
डॉ कुलदीपसिंह सिसोदिया कुंदन
ख़ुद्दार बन रहे हैं पर लँगड़ा रहा ज़मीर है
ख़ुद्दार बन रहे हैं पर लँगड़ा रहा ज़मीर है
पूर्वार्थ
डॉ अरुण कुमार शास्त्री
डॉ अरुण कुमार शास्त्री
DR ARUN KUMAR SHASTRI
**वसन्त का स्वागत है*
**वसन्त का स्वागत है*
Mohan Pandey
*हल्द्वानी का प्रसिद्ध बाबा लटूरिया आश्रम (कुंडलिया)*
*हल्द्वानी का प्रसिद्ध बाबा लटूरिया आश्रम (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
3372⚘ *पूर्णिका* ⚘
3372⚘ *पूर्णिका* ⚘
Dr.Khedu Bharti
मुझे ‘शराफ़त’ के तराजू पर न तोला जाए
मुझे ‘शराफ़त’ के तराजू पर न तोला जाए
Keshav kishor Kumar
दोहा
दोहा
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
तू जो कहती प्यार से मैं खुशी खुशी कर जाता
तू जो कहती प्यार से मैं खुशी खुशी कर जाता
Kumar lalit
चाँद बदन पर ग़म-ए-जुदाई  लिखता है
चाँद बदन पर ग़म-ए-जुदाई लिखता है
Shweta Soni
तुम्हें प्यार करते हैं
तुम्हें प्यार करते हैं
Mukesh Kumar Sonkar
वो बेजुबान कितने काम आया
वो बेजुबान कितने काम आया
Deepika Kishori
आबाद वतन रखना, महका चमन रखना
आबाद वतन रखना, महका चमन रखना
gurudeenverma198
Loading...