Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
30 Jan 2024 · 1 min read

2967.*पूर्णिका*

2967.*पूर्णिका*
🌷 समय के साथ चलना पड़ता है 🌷
212 212 22 22
समय के साथ चलना पड़ता है ।
देख हालात ढ़लना पड़ता है ।।
जिंदगी का मजा कोई न लिया।
बेवजह हाथ मलना पड़ता है ।।
हसरतें बदल जाती दुनिया में ।
चाल यारों बदलना पड़ता है ।।
जीतने के लिए संघर्ष करते ।
यूं दुश्मन को मसलना पड़ता है ।।
राह चलते यहाँ खेदू हरदम।
फूलना रोज फलना पड़ता है ।।
……….✍ डॉ .खेदू भारती”सत्येश”
30-01-2024मंगलवार

63 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
"दो पल की जिंदगी"
Yogendra Chaturwedi
नवसंवत्सर लेकर आया , नव उमंग उत्साह नव स्पंदन
नवसंवत्सर लेकर आया , नव उमंग उत्साह नव स्पंदन
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
तस्वीरों में मुस्कुराता वो वक़्त, सजा यादों की दे जाता है।
तस्वीरों में मुस्कुराता वो वक़्त, सजा यादों की दे जाता है।
Manisha Manjari
अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस :इंस्पायर इंक्लूजन
अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस :इंस्पायर इंक्लूजन
Dr.Rashmi Mishra
पाकर तुझको हम जिन्दगी का हर गम भुला बैठे है।
पाकर तुझको हम जिन्दगी का हर गम भुला बैठे है।
Taj Mohammad
सुन मेरे बच्चे
सुन मेरे बच्चे
Sangeeta Beniwal
सपने
सपने
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
2831. *पूर्णिका*
2831. *पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
बेशक खताये बहुत है
बेशक खताये बहुत है
shabina. Naaz
11) “कोरोना एक सबक़”
11) “कोरोना एक सबक़”
Sapna Arora
झुकाव कर के देखो ।
झुकाव कर के देखो ।
Buddha Prakash
*चारों और मतलबी लोग है*
*चारों और मतलबी लोग है*
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
पहाड़ी भाषा काव्य ( संग्रह )
पहाड़ी भाषा काव्य ( संग्रह )
श्याम सिंह बिष्ट
नए मुहावरे का चाँद
नए मुहावरे का चाँद
Dr MusafiR BaithA
तेरी सादगी को निहारने का दिल करता हैं ,
तेरी सादगी को निहारने का दिल करता हैं ,
Vishal babu (vishu)
दीवाली शुभकामनाएं
दीवाली शुभकामनाएं
kumar Deepak "Mani"
"विकल्प रहित"
Dr. Kishan tandon kranti
प्यार के
प्यार के
हिमांशु Kulshrestha
हृदय को भी पीड़ा न पहुंचे किसी के
हृदय को भी पीड़ा न पहुंचे किसी के
Er. Sanjay Shrivastava
*हिंदी दिवस*
*हिंदी दिवस*
Atul Mishra
दिलबर दिलबर
दिलबर दिलबर
DR ARUN KUMAR SHASTRI
क्या कहती है तस्वीर
क्या कहती है तस्वीर
Surinder blackpen
वक्त और रिश्ते
वक्त और रिश्ते
Suman (Aditi Angel 🧚🏻)
कावड़ियों की धूम है,
कावड़ियों की धूम है,
manjula chauhan
दोस्ती देने लगे जब भी फ़रेब..
दोस्ती देने लगे जब भी फ़रेब..
अश्क चिरैयाकोटी
అమ్మా దుర్గా
అమ్మా దుర్గా
डॉ गुंडाल विजय कुमार 'विजय'
कितना प्यार
कितना प्यार
Swami Ganganiya
घाव
घाव
अखिलेश 'अखिल'
*दासता जीता रहा यह, देश निज को पा गया (मुक्तक)*
*दासता जीता रहा यह, देश निज को पा गया (मुक्तक)*
Ravi Prakash
पाती प्रभु को
पाती प्रभु को
Saraswati Bajpai
Loading...