Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
2 Nov 2023 · 1 min read

23/119.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*

23/119.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
🌷 झन बेचव वोट ला🌷
22 2212
झन बेचव वोट ला।
मत लेवव नोट ला।।
बस भुलवारत रही ।
खाहू झन चोट ला।।
शासन करही इहां ।
रख मन मा खोट ला।।
जौन करेजा हवे।
कर दीही पोट ला।।
ताकत खेदू रखय ।
चिर दे लंगोट ला ।।
…………✍डॉ .खेदू भारती”सत्येश”
02-11-2023गुरुवार

142 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
"पाठशाला"
Dr. Kishan tandon kranti
डॉ अरुण कुमार शास्त्री
डॉ अरुण कुमार शास्त्री
DR ARUN KUMAR SHASTRI
और भी हैं !!
और भी हैं !!
अभिषेक पाण्डेय 'अभि ’
निगाहें
निगाहें
Sunanda Chaudhary
उस बाग का फूल ज़रूर बन जाना,
उस बाग का फूल ज़रूर बन जाना,
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
अब महान हो गए
अब महान हो गए
विक्रम कुमार
रूपमाला (मदन ) छंद विधान सउदाहरण
रूपमाला (मदन ) छंद विधान सउदाहरण
Subhash Singhai
जीवन में,
जीवन में,
नेताम आर सी
भगवान
भगवान
Adha Deshwal
#लघुकथा-
#लघुकथा-
*प्रणय प्रभात*
Maine Dekha Hai Apne Bachpan Ko...!
Maine Dekha Hai Apne Bachpan Ko...!
Srishty Bansal
ईश्वर से साक्षात्कार कराता है संगीत
ईश्वर से साक्षात्कार कराता है संगीत
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
संस्कार का गहना
संस्कार का गहना
Sandeep Pande
नील गगन
नील गगन
नवीन जोशी 'नवल'
अभिव्यक्ति के माध्यम - भाग 02 Desert Fellow Rakesh Yadav
अभिव्यक्ति के माध्यम - भाग 02 Desert Fellow Rakesh Yadav
Desert fellow Rakesh
मां तुम्हारा जाना
मां तुम्हारा जाना
अनिल कुमार निश्छल
अमृत वचन
अमृत वचन
Dp Gangwar
The Sound of Birds and Nothing Else
The Sound of Birds and Nothing Else
R. H. SRIDEVI
*सीता-स्वयंवर : कुछ दोहे*
*सीता-स्वयंवर : कुछ दोहे*
Ravi Prakash
बिन बुलाए कभी जो ना जाता कही
बिन बुलाए कभी जो ना जाता कही
कृष्णकांत गुर्जर
तेवरी इसलिए तेवरी है [आलेख ] +रमेशराज
तेवरी इसलिए तेवरी है [आलेख ] +रमेशराज
कवि रमेशराज
‘’The rain drop from the sky: If it is caught in hands, it i
‘’The rain drop from the sky: If it is caught in hands, it i
Vivek Mishra
यौम ए पैदाइश पर लिखे अशआर
यौम ए पैदाइश पर लिखे अशआर
Dr fauzia Naseem shad
2448.पूर्णिका
2448.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
प्रकृति हर पल आपको एक नई सीख दे रही है और आपकी कमियों और खूब
प्रकृति हर पल आपको एक नई सीख दे रही है और आपकी कमियों और खूब
Rj Anand Prajapati
ऐसा क्यूं है??
ऐसा क्यूं है??
Kanchan Alok Malu
आज अचानक आये थे
आज अचानक आये थे
Jitendra kumar
प्रतीक्षा
प्रतीक्षा
Dr. Pradeep Kumar Sharma
सूर्य देव की अरुणिम आभा से दिव्य आलोकित है!
सूर्य देव की अरुणिम आभा से दिव्य आलोकित है!
Bodhisatva kastooriya
इस जीवन के मधुर क्षणों का
इस जीवन के मधुर क्षणों का
Shweta Soni
Loading...