Oct 10, 2021 · 1 min read

“हम सब बुझु भसिया रहल छी “

डॉ लक्ष्मण झा “ परिमल “
====================
विद्यार्थी काल सं हमरालोकनि अप्पन लक्ष्यक संरचना आ परिकल्पना करैत आगाँ बढैत छी ! किनको डॉक्टर बनबाक लक्ष्य ..किनको इंजिनियर बनबाक लालसा …कियो आई० ए ० एस ०…कियो आई० पी ० एस ० इत्यादि..इत्यादि रहित छनि ! ताहि अनुसारें अप्पन अप्पन अभ्यास करैत छथि ! अर्जुन ..सर्वश्रेष्ट धनुर्धर बनलाह ! इच्छा शक्ति ..लगन ..परिश्रम ..आ उचित मार्गदर्शनक प्रतापें वो सफल धनुर्धर बनि गेलाह ! मुदा हमरा लोकनि अप्पन लक्ष्य किछु आर बनौने रहित छी आ अनेरो आनठाम मुड़ीयारि देब प्रारंभ क’ देत छी ! बुझु इ संक्रामक रोग भ’ गेल !….. हमरा लोकनिक लक्ष्य अछि ‘मिथिला ..मैथिल आ मैथिली ‘ क उत्थान ! मुदा आपसी भेद-भाव ..क्षेत्रीयता …भाषा विवाद ..इत्यादि मे ओझरा जाइत छी ! हमर एकटा कविता क किछु पंक्ति सादर समर्पित …….
“आपस केर …भेद -भाव
यावत नहि ..तोडि सकब
इतिहासक ……..टुटलता
कडियो नहि जोडि सकब !!@लक्ष्मण
================
डॉ लक्ष्मण झा “ परिमल “
साउंड हैल्थ क्लीनिक
एस 0 पी 0 कॉलेज रोड
दुमका
झारखंड
भारत

118 Views
You may also like:
एक पिता की जान।
Taj Mohammad
माँ — फ़ातिमा एक अनाथ बच्ची
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
आखरी उत्तराधिकारी
Prabhudayal Raniwal
फिर कभी तुम्हें मैं चाहकर देखूंगा.............
Nasib Sabharwal
🔥😊 तेरे प्यार ने
N.ksahu0007@writer
🌺प्रेम की राह पर-45🌺
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
हनुमंता
Dhirendra Panchal
हर सिम्त यहाँ...
अश्क चिरैयाकोटी
""वक्त ""
Ray's Gupta
कुछ नहीं
सिद्धार्थ गोरखपुरी
【30】*!* गैया मैया कृष्ण कन्हैया *!*
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
ज़रा सामने बैठो।
Taj Mohammad
तितली रानी (बाल कविता)
Anamika Singh
चौंक पड़ती हैं सदियाॅं..
Rashmi Sanjay
डगर कठिन हो बेशक मैं तो कदम कदम मुस्काता हूं
VINOD KUMAR CHAUHAN
दुआएं करेंगी असर धीरे- धीरे
Dr Archana Gupta
एक दौर था हम भी आशिक हुआ करते थे
Krishan Singh
एक मजदूर
Rashmi Sanjay
जोशवान मनुष्य
AMRESH KUMAR VERMA
जो... तुम मुझ संग प्रीत करों...
Dr. Alpa H.
सही दिशा में
Ratan Kirtaniya
कहां चला अरे उड़ कर पंछी
VINOD KUMAR CHAUHAN
नियमित बनाम नियोजित(मरणशील बनाम प्रगतिशील)
Sahil
ग़ज़ल
Anis Shah
पिता आदर्श नायक हमारे
Buddha Prakash
💐प्रेम की राह पर-30💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
हम भारत के लोग
Mahender Singh Hans
धरती की फरियाद
Anamika Singh
क्या अटल था?
Saraswati Bajpai
मन की उलझने
Aditya Prakash
Loading...