Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings

दूर संचारे क्रांति

परत-दर-परते
खुलत रहल बा
उ बात
जोन लाख परदा के
भितरे रहल छी …

इ वास्तव मा
परिवर्तन होइ

अथबा —
कोनो
दूर संचारे क्रांति
से उपजत
दोसर दुनिया …

जहाँये बिना
आइना के
देखब जा सकत
सभै किछु !!
•••

1 Like · 157 Views
You may also like:
आपको याद भी तो करते हैं
Dr fauzia Naseem shad
सुन्दर घर
Buddha Prakash
A wise man 'The Ambedkar'
Buddha Prakash
हमारी सभ्यता
Anamika Singh
पिता मेरे /
ईश्वर दयाल गोस्वामी
पिता
लक्ष्मी सिंह
हे तात ! कहा तुम चले गए...
मनोज कर्ण
मैं कुछ कहना चाहता हूं
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
इंसानियत का एहसास भी
Dr fauzia Naseem shad
आज नहीं तो कल होगा / (समकालीन गीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
वरिष्ठ गीतकार स्व.शिवकुमार अर्चन को समर्पित श्रद्धांजलि नवगीत
ईश्वर दयाल गोस्वामी
बेरोज़गारों का कब आएगा वसंत
Anamika Singh
मेरे साथी!
Anamika Singh
क्या मेरी कलाई सूनी रहेगी ?
Kumar Anu Ojha
जिस नारी ने जन्म दिया
VINOD KUMAR CHAUHAN
इस तरह
Dr fauzia Naseem shad
दो पल मोहब्बत
श्री रमण 'श्रीपद्'
कर्ज भरना पिता का न आसान है
आकाश महेशपुरी
चलो दूर चलें
VINOD KUMAR CHAUHAN
"सावन-संदेश"
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
नर्मदा के घाट पर / (नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
बहुत प्यार करता हूं तुमको
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
किसकी पीर सुने ? (नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
इश्क कोई बुरी बात नहीं
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
"कुछ तुम बदलो कुछ हम बदलें"
Ajit Kumar "Karn"
बुआ आई
राजेश 'ललित'
पहनते है चरण पादुकाएं ।
Buddha Prakash
चमचागिरी
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
"रक्षाबंधन पर्व"
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
【34】*!!* आग दबाये मत रखिये *!!*
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
Loading...