Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Settings

कविता के दलील

इंसाफ़ के
अपील कइले बानी!
कबीरा के
वकील कइले बानी!!
ज़मीर के
अपना गवाह औरी!
कविता के
दलील कइले बानी!!
Shekhar Chandra Mitra
#freedomofspeech

107 Views
You may also like:
कूड़े के ढेर में भी
Dr fauzia Naseem shad
मजबूर ! मजदूर
शेख़ जाफ़र खान
खुद से बच कर
Dr fauzia Naseem shad
A wise man 'The Ambedkar'
Buddha Prakash
स्वर कटुक हैं / (नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
"शौर्यम..दक्षम..युध्धेय, बलिदान परम धर्मा" अर्थात- बहादुरी वह है जो आपको...
Lohit Tamta
सुन्दर घर
Buddha Prakash
उलझनें_जिन्दगी की
मनोज कर्ण
अब और नहीं सोचो
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
पितृ-दिवस / (समसामायिक नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
एक दुआ हो
Dr fauzia Naseem shad
बरसात आई झूम के...
Buddha Prakash
काश....! तू मौन ही रहता....
Dr. Pratibha Mahi
''प्रकृति का गुस्सा कोरोना''
Dr Meenu Poonia
फ़ायदा कुछ नहीं वज़ाहत का ।
Dr fauzia Naseem shad
दर्द ख़ामोशियां
Dr fauzia Naseem shad
आंसूओं की नमी
Dr fauzia Naseem shad
पिता के रिश्ते में फर्क होता है।
Taj Mohammad
पापा आपकी बहुत याद आती है !
Kuldeep mishra (KD)
दो जून की रोटी उसे मयस्सर
श्री रमण 'श्रीपद्'
छोड़ दी हमने वह आदते
Gouri tiwari
माँ की भोर / (नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
बुआ आई
राजेश 'ललित'
एसजेवीएन - बढ़ते कदम
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
पिता
Shankar J aanjna
मां की महानता
Satpallm1978 Chauhan
प्रात का निर्मल पहर है
मनोज कर्ण
मेरा गांव
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
पापा करते हो प्यार इतना ।
Buddha Prakash
आदर्श पिता
Sahil
Loading...