Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
1 Nov 2023 · 1 min read

🥀 *अज्ञानी की कलम*🥀

🥀 अज्ञानी की कलम🥀
🥀 छन्द-सम-वर्णिक “विर्घुन्माला🥀
परशु राम, भाये अक्ति।
तप कर, मिलें भक्ति ।
मन क्रम , फेरे माला।
उके जीवन, में उजाला।।
222 222 222
हेरा-घेरा ,पाता वैसा।
नित कर्म, फल तैसा।
साथी संग, कोई जाता।
कर्म नुर्सा, फल जैसा।।

✍ स्वरचित एवं मौलिक
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी
झाँसी उ•प्र•

128 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
हे सर्दी रानी कब आएगी तू,
हे सर्दी रानी कब आएगी तू,
ओनिका सेतिया 'अनु '
हां....वो बदल गया
हां....वो बदल गया
Neeraj Agarwal
रमेशराज की वर्णिक एवं लघु छंदों में 16 तेवरियाँ
रमेशराज की वर्णिक एवं लघु छंदों में 16 तेवरियाँ
कवि रमेशराज
दिल में आग , जिद और हौसला बुलंद,
दिल में आग , जिद और हौसला बुलंद,
कवि दीपक बवेजा
मुक्तक
मुक्तक
sushil sarna
24/234. *छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
24/234. *छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
लहर-लहर दीखे बम लहरी, बम लहरी
लहर-लहर दीखे बम लहरी, बम लहरी
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
चंद्रशेखर आज़ाद जी की पुण्यतिथि पर भावभीनी श्रद्धांजलि
चंद्रशेखर आज़ाद जी की पुण्यतिथि पर भावभीनी श्रद्धांजलि
Dr Archana Gupta
‼ ** सालते जज़्बात ** ‼
‼ ** सालते जज़्बात ** ‼
Dr Manju Saini
प्यारा सा गांव
प्यारा सा गांव
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
International Yoga Day
International Yoga Day
Tushar Jagawat
Mohabbat
Mohabbat
AMBAR KUMAR
नये गीत गायें
नये गीत गायें
Arti Bhadauria
मेरी कलम......
मेरी कलम......
Naushaba Suriya
*
*"जन्मदिन की शुभकामनायें"*
Shashi kala vyas
आपकी लिखावट भी यह दर्शा देती है कि आपकी बुद्धिमत्ता क्या है
आपकी लिखावट भी यह दर्शा देती है कि आपकी बुद्धिमत्ता क्या है
Rj Anand Prajapati
बाबासाहेब भीमराव अंबेडकर जी की १३२ वीं जयंती
बाबासाहेब भीमराव अंबेडकर जी की १३२ वीं जयंती
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
दिल में
दिल में
Dr fauzia Naseem shad
चुनौती हर हमको स्वीकार
चुनौती हर हमको स्वीकार
surenderpal vaidya
मैं और दर्पण
मैं और दर्पण
Seema gupta,Alwar
You do NOT need to take big risks to be successful.
You do NOT need to take big risks to be successful.
पूर्वार्थ
दीप माटी का
दीप माटी का
Dr. Meenakshi Sharma
*किसी बच्चे के जैसे मत खिलौनों से बहल जाता (मुक्तक)*
*किसी बच्चे के जैसे मत खिलौनों से बहल जाता (मुक्तक)*
Ravi Prakash
जिंदगी की राहों पे अकेले भी चलना होगा
जिंदगी की राहों पे अकेले भी चलना होगा
VINOD CHAUHAN
तुम करो वैसा, जैसा मैं कहता हूँ
तुम करो वैसा, जैसा मैं कहता हूँ
gurudeenverma198
मायड़ भौम रो सुख
मायड़ भौम रो सुख
लक्की सिंह चौहान
पाप का भागी
पाप का भागी
Dr. Pradeep Kumar Sharma
जवाब दो हम सवाल देंगे।
जवाब दो हम सवाल देंगे।
सत्य कुमार प्रेमी
कविता: सपना
कविता: सपना
Rajesh Kumar Arjun
Thought
Thought
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
Loading...