Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
15 Nov 2023 · 1 min read

🥀*अज्ञानीकी कलम*🥀

🥀*अज्ञानीकी कलम*🥀
जहाँ नित मन मचलता हो, वहीं निस्वार्थ प्रेम होता है।
जहाँ माँ बाप गुरु की सेवा हो,वही जीवन साकार होता है।
जहाँ नित सत्संग होता हो, वही जीव भव से पार होता है।
जहाँ प्रीति की सुप्रीति हो, वही सुमित घर संसार होता है।।

जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी
झाँसी उ•प्र•

219 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
कैलाश मानसरोवर यात्रा (पुस्तक समीक्षा)
कैलाश मानसरोवर यात्रा (पुस्तक समीक्षा)
Ravi Prakash
बड़ा गुरुर था रावण को भी अपने भ्रातृ रूपी अस्त्र पर
बड़ा गुरुर था रावण को भी अपने भ्रातृ रूपी अस्त्र पर
सुनील कुमार
निर्जन पथ का राही
निर्जन पथ का राही
नवीन जोशी 'नवल'
मैंने जिसे लिखा था बड़ा देखभाल के
मैंने जिसे लिखा था बड़ा देखभाल के
Shweta Soni
जिन्हें नशा था
जिन्हें नशा था
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
"परखना सीख जाओगे "
Slok maurya "umang"
होली
होली
Dr. Kishan Karigar
#क़तआ (मुक्तक)
#क़तआ (मुक्तक)
*प्रणय प्रभात*
प्यार का गीत
प्यार का गीत
Neelam Sharma
कोरोना - इफेक्ट
कोरोना - इफेक्ट
Kanchan Khanna
मृतशेष
मृतशेष
AJAY AMITABH SUMAN
सीख ना पाए पढ़के उन्हें हम
सीख ना पाए पढ़के उन्हें हम
The_dk_poetry
खुशी तो आज भी गांव के पुराने घरों में ही मिलती है 🏡
खुशी तो आज भी गांव के पुराने घरों में ही मिलती है 🏡
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
बिन मौसम बरसात
बिन मौसम बरसात
लक्ष्मी सिंह
दिली नज़्म कि कभी ताकत थी बहारें,
दिली नज़्म कि कभी ताकत थी बहारें,
manjula chauhan
गोरे तन पर गर्व न करियो (भजन)
गोरे तन पर गर्व न करियो (भजन)
Khaimsingh Saini
मोहब्बत मुकम्मल हो ये ज़रूरी तो नहीं...!!!!
मोहब्बत मुकम्मल हो ये ज़रूरी तो नहीं...!!!!
Jyoti Khari
चल अंदर
चल अंदर
Satish Srijan
Tu wakt hai ya koi khab mera
Tu wakt hai ya koi khab mera
Sakshi Tripathi
3340.⚘ *पूर्णिका* ⚘
3340.⚘ *पूर्णिका* ⚘
Dr.Khedu Bharti
ये चांद सा महबूब और,
ये चांद सा महबूब और,
शेखर सिंह
परछाई (कविता)
परछाई (कविता)
Indu Singh
शीर्षक - चाय
शीर्षक - चाय
Neeraj Agarwal
रिश्तों में वक्त
रिश्तों में वक्त
पूर्वार्थ
"साजिश"
Dr. Kishan tandon kranti
बड़ा सुंदर समागम है, अयोध्या की रियासत में।
बड़ा सुंदर समागम है, अयोध्या की रियासत में।
जगदीश शर्मा सहज
तुम सम्भलकर चलो
तुम सम्भलकर चलो
gurudeenverma198
👗कैना👗
👗कैना👗
सुरेश अजगल्ले 'इन्द्र '
क्या मिटायेंगे भला हमको वो मिटाने वाले .
क्या मिटायेंगे भला हमको वो मिटाने वाले .
Shyamsingh Lodhi Rajput (Tejpuriya)
करवा चौथ
करवा चौथ
इंजी. संजय श्रीवास्तव
Loading...