Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
9 Jan 2023 · 1 min read

💐💐तुम अपना ख़्याल रखना💐💐

##मणिकर्णिका##
##तैयारी शुरू कर लो##
##Bonie##
##कूड़ा है कूड़ा##

तुम अपना ख़्याल रखना,
तुम अपना ख़्याल रखना,
चुन लिए फूल जिन्दगी के,
तुम्हारा साथ रहा ही नहीं,
दूर क्यों हो?कुछ इज़हार तो करते,
कहेंगे कोई सवाल ही नहीं,
इश्क का असर बे-असर है मुझ पर,
तुम अपना ख़्याल रखना।।1।।
मेरी ही आहट है पीछे देखना,
जो देखा है उसे फिर देखना,
क्या कोई दाग़ नज़र आया?
मेरे दिल में अपनी तस्वीर ही देखना,
इन्तजार का भी एहसान है मुझ पर,
तुम अपना ख्याल रखना।।2।।
तक़दीर किसे सँवारती है बताना,
राहों के काँटों को तुम ही हटाना,
ठहरा हूँ अभी ठहरा रहूँगा,
चलो तुम अपनी झूठी खुशी ही जताना,
तुम्हारा कोई किस्सा न दिलशाद है मुझ पर,
तुम अपना ख़्याल रखना।।3।।
उनके मुस्कुराने की तस्वीरे बची है,
उसके आगे कोई दौलत न सजी है,
रातें बचीं हैं मेरे हिस्से में,
बस एक साँस भर की जान बची है,
‘उन्हें देखने भर का इल्ज़ाम है’मुझ पर
तुम अपना ख़्याल रखना।।4।।

©®अभिषेक: पाराशरः ‘आनन्द’

Language: Hindi
Tag: गीत
44 Views
You may also like:
समग्र क्रांति
समग्र क्रांति
Shekhar Chandra Mitra
*शक्ति दो भवानी यह वीरता का भाव बढ़े (घनाक्षरी: सिंह विलोकित छंद)*
*शक्ति दो भवानी यह वीरता का भाव बढ़े (घनाक्षरी: सिंह...
Ravi Prakash
!!दर्पण!!
!!दर्पण!!
पंकज पाण्डेय सावर्ण्य
You cannot feel me because
You cannot feel me because
Sakshi Tripathi
कहाँ गया रोजगार...?
कहाँ गया रोजगार...?
मनोज कर्ण
मोबाइल के भक्त
मोबाइल के भक्त
Satish Srijan
नवगीत---- जीवन का आर्तनाद
नवगीत---- जीवन का आर्तनाद
Sushila Joshi
वो मुझे
वो मुझे
Dr fauzia Naseem shad
उसकी मुस्कराहट के , कायल हुए थे हम
उसकी मुस्कराहट के , कायल हुए थे हम
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
आपकी सोच जीवन बना भी सकती है बिगाढ़ भी सकती है
आपकी सोच जीवन बना भी सकती है बिगाढ़ भी सकती...
पंकज कुमार शर्मा 'प्रखर'
💐अज्ञात के प्रति-62💐
💐अज्ञात के प्रति-62💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
याद तो बहुत करते हैं लेकिन जरूरत पड़ने पर।
याद तो बहुत करते हैं लेकिन जरूरत पड़ने पर।
Gouri tiwari
जय माता की
जय माता की
Pooja Singh
इक रहनुमां चाहती है।
इक रहनुमां चाहती है।
Taj Mohammad
कुछ अलग लिखते हैं। ।।।
कुछ अलग लिखते हैं। ।।।
Tarang Shukla
★डर★
★डर★
★ IPS KAMAL THAKUR ★
जीवन !
जीवन !
Dinesh Yadav (दिनेश यादव)
शब्द सारे ही लौट आए हैं
शब्द सारे ही लौट आए हैं
Ranjana Verma
बड़ी मुश्किल से आया है अकेले चलने का हुनर
बड़ी मुश्किल से आया है अकेले चलने का हुनर
कवि दीपक बवेजा
महंगाई नही बढ़ी खर्चे बढ़ गए है
महंगाई नही बढ़ी खर्चे बढ़ गए है
Ram Krishan Rastogi
मौत से यारो किसकी यारी है
मौत से यारो किसकी यारी है
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
सूरज दादा छुट्टी पर (हास्य कविता)
सूरज दादा छुट्टी पर (हास्य कविता)
डॉ. शिव लहरी
यह चित्र कुछ बोलता है
यह चित्र कुछ बोलता है
राकेश कुमार राठौर
जो जी में आए कहें, बोलें बोल कुबोल।
जो जी में आए कहें, बोलें बोल कुबोल।
डॉ.सीमा अग्रवाल
■ अलर्ट फ़ॉर 2023
■ अलर्ट फ़ॉर 2023
*Author प्रणय प्रभात*
🙏महागौरी🙏
🙏महागौरी🙏
पंकज कुमार कर्ण
*जीवन जीने की कला*
*जीवन जीने की कला*
Shashi kala vyas
"नया अवतार"
Dr. Kishan tandon kranti
"ज़िन्दगी जो दे रही
Saraswati Bajpai
हमें दिल की हर इक धड़कन पे हिन्दुस्तान लिखना है
हमें दिल की हर इक धड़कन पे हिन्दुस्तान लिखना है
Irshad Aatif
Loading...