Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
7 Mar 2023 · 1 min read

🌿🍀🌿🍀🌿🍀🌿🍀🌿🍀🌿🍀🌿🍀

🌿🍀🌿🍀🌿🍀🌿🍀🌿🍀🌿🍀🌿🍀
गऊ सेवा के हित करें, सभी आज संकल्प।
घर-घर से कुछ दान हो, अधिक करें या अल्प।।
गाय ग्रास के वास्ते, रखनी हैं सौ नाँद ।
सभी करें सहयोग यों, संस्था बनी “विकल्प” ।।

@सुभाष राहत बरेलवी
मोब.7017609930
🍀🌿🍀🌿🍀🌿🍀🌿🍀🌿🍀🌿🍀🌿
गौ सेवा के लिए अपना सहयोग प्रदान करने के लिए श्री राज नारायण जी से संपर्क करें उनका संपर्क सूत्र है….
+91 80062 00618

531 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
अपनी सूरत
अपनी सूरत
Dr fauzia Naseem shad
तुम और मैं
तुम और मैं
लक्ष्मी वर्मा प्रतीक्षा
भोले नाथ तेरी सदा ही जय
भोले नाथ तेरी सदा ही जय
नेताम आर सी
गूँज उठा सर्व ब्रह्माण्ड में वंदेमातरम का नारा।
गूँज उठा सर्व ब्रह्माण्ड में वंदेमातरम का नारा।
Neelam Sharma
आसमान को उड़ने चले,
आसमान को उड़ने चले,
Buddha Prakash
विष का कलश लिये धन्वन्तरि
विष का कलश लिये धन्वन्तरि
कवि रमेशराज
गवर्नमेंट जॉब में ऐसा क्या होता हैं!
गवर्नमेंट जॉब में ऐसा क्या होता हैं!
शेखर सिंह
गलतियां ही सिखाती हैं
गलतियां ही सिखाती हैं
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
दो शे'र ( मतला और इक शे'र )
दो शे'र ( मतला और इक शे'र )
डॉक्टर वासिफ़ काज़ी
*** मां की यादें ***
*** मां की यादें ***
Chunnu Lal Gupta
*णमोकार मंत्र (बाल कविता)*
*णमोकार मंत्र (बाल कविता)*
Ravi Prakash
3370⚘ *पूर्णिका* ⚘
3370⚘ *पूर्णिका* ⚘
Dr.Khedu Bharti
पसन्द नहीं था खुदा को भी, यह रिश्ता तुम्हारा
पसन्द नहीं था खुदा को भी, यह रिश्ता तुम्हारा
gurudeenverma198
जिंदगी की राहों पे अकेले भी चलना होगा
जिंदगी की राहों पे अकेले भी चलना होगा
VINOD CHAUHAN
पात कब तक झरेंगें
पात कब तक झरेंगें
Shweta Soni
सीख ना पाए पढ़के उन्हें हम
सीख ना पाए पढ़के उन्हें हम
The_dk_poetry
बिगड़ता यहां परिवार देखिए........
बिगड़ता यहां परिवार देखिए........
SATPAL CHAUHAN
फिर किस मोड़ पे मिलेंगे बिछड़कर हम दोनों,
फिर किस मोड़ पे मिलेंगे बिछड़कर हम दोनों,
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
"मित्रता"
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
भविष्य के सपने (लघुकथा)
भविष्य के सपने (लघुकथा)
Indu Singh
ज़ख्म पर ज़ख्म अनगिनत दे गया
ज़ख्म पर ज़ख्म अनगिनत दे गया
Ramji Tiwari
रंगीला बचपन
रंगीला बचपन
Dr. Pradeep Kumar Sharma
दिल के कोने में
दिल के कोने में
Surinder blackpen
शिवाजी गुरु स्वामी समर्थ रामदास – भाग-01
शिवाजी गुरु स्वामी समर्थ रामदास – भाग-01
Sadhavi Sonarkar
■ मानवता से दानवता की ओर जाना काहे का विकास?₹
■ मानवता से दानवता की ओर जाना काहे का विकास?₹
*प्रणय प्रभात*
"खुद के खिलाफ़"
Dr. Kishan tandon kranti
#justareminderdrarunkumarshastri
#justareminderdrarunkumarshastri
DR ARUN KUMAR SHASTRI
होलिका दहन कथा
होलिका दहन कथा
विजय कुमार अग्रवाल
बुला लो
बुला लो
Dr.Pratibha Prakash
दफन करके दर्द अपना,
दफन करके दर्द अपना,
Mamta Rani
Loading...