Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
13 Jun 2023 · 1 min read

🌺हे परम पिता हे परमेश्वर 🙏🏻

हे परम पिता, हे परमेश्वर;
हे जगत नियंता, गुणागार।
करुणा के सागर, दीनबंधु;
जागो जगदीश्वर, जगदाधार।।

जग में विषाक्तता छाई है;
जो मानव ने फैलाई है।
भय से कंपित है धरा सकल;
जन में नीरसता आई है।।

निज शक्ति प्रदर्शन की खातिर;
निर्मित यह रोग किया जिसने।
दो दण्ड प्रचण्ड उसे भगवन;
विधि से खिलवाड़ किया जिसने।।

हे नाथ कृपा करिये सब पर;
हों धर्मशील, सज्जन ज्ञानी।
मानवता के वाहक हों सब;
हो सभी कर्म पथ के गामी।।

दानवता का संहार करो;
प्रभु मानवता का कर प्रसार।
जो भूल हुई करके सुधार;
‘अंकुर ‘ का भी करदो उद्धार।।

हे परम पिता, हे परमेश्वर;
हे जगत नियंता, गुणागार।
करुणा के सागर, दीनबंधु;
जागो जगदीश्वर, जगदाधार।।

– ✍️निरंजन कुमार तिलक ‘अंकुर’
जैतपुर, छतरपुर मध्यप्रदेश

Language: Hindi
410 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
💐अज्ञात के प्रति-141💐
💐अज्ञात के प्रति-141💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
नादान पक्षी
नादान पक्षी
Neeraj Agarwal
जीवन साथी ओ मेरे यार
जीवन साथी ओ मेरे यार
gurudeenverma198
*मूॅंगफली स्वादिष्ट, सर्वजन की यह मेवा (कुंडलिया)*
*मूॅंगफली स्वादिष्ट, सर्वजन की यह मेवा (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
सन् २०२३ में,जो घटनाएं पहली बार हुईं
सन् २०२३ में,जो घटनाएं पहली बार हुईं
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
"वरना"
Dr. Kishan tandon kranti
गंदा धंधा
गंदा धंधा
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
पुण्य आत्मा
पुण्य आत्मा
डॉ विजय कुमार कन्नौजे
*हिन्दी बिषय- घटना*
*हिन्दी बिषय- घटना*
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
नजरअंदाज करने के
नजरअंदाज करने के
Dr Manju Saini
आज मंगलवार, 05 दिसम्बर 2023  मार्गशीर्ष कृष्णपक्ष की अष्टमी
आज मंगलवार, 05 दिसम्बर 2023 मार्गशीर्ष कृष्णपक्ष की अष्टमी
Shashi kala vyas
कई आबादियों में से कोई आबाद होता है।
कई आबादियों में से कोई आबाद होता है।
Sanjay ' शून्य'
"जिंदगी"
नेताम आर सी
आलिंगन शहद से भी अधिक मधुर और चुंबन चाय से भी ज्यादा मीठा हो
आलिंगन शहद से भी अधिक मधुर और चुंबन चाय से भी ज्यादा मीठा हो
Aman Kumar Holy
पराये सपने!
पराये सपने!
Saransh Singh 'Priyam'
हम बच्चे
हम बच्चे
Dr. Pradeep Kumar Sharma
"क्या देश आजाद है?"
Ekta chitrangini
2806. *पूर्णिका*
2806. *पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
कुछ लोग बड़े बदतमीज होते हैं,,,
कुछ लोग बड़े बदतमीज होते हैं,,,
विमला महरिया मौज
कल की चिंता छोड़कर....
कल की चिंता छोड़कर....
जगदीश लववंशी
🪔🪔दीपमालिका सजाओ तुम।
🪔🪔दीपमालिका सजाओ तुम।
Pt. Brajesh Kumar Nayak
सुनो सुनाऊॅ॑ अनसुनी कहानी
सुनो सुनाऊॅ॑ अनसुनी कहानी
VINOD CHAUHAN
■ ग़ज़ल (वीक एंड स्पेशल) -
■ ग़ज़ल (वीक एंड स्पेशल) -
*Author प्रणय प्रभात*
कदमों में बिखर जाए।
कदमों में बिखर जाए।
लक्ष्मी सिंह
प्रथम पूज्य श्रीगणेश
प्रथम पूज्य श्रीगणेश
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
शमशान और मैं l
शमशान और मैं l
सेजल गोस्वामी
ये जो नखरें हमारी ज़िंदगी करने लगीं हैं..!
ये जो नखरें हमारी ज़िंदगी करने लगीं हैं..!
Hitanshu singh
तेरे जागने मे ही तेरा भला है
तेरे जागने मे ही तेरा भला है
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
रास्ते है बड़े उलझे-उलझे
रास्ते है बड़े उलझे-उलझे
Buddha Prakash
आज हमने सोचा
आज हमने सोचा
shabina. Naaz
Loading...