Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
11 Jul 2023 · 1 min read

🌹🌹🌹फितरत 🌹🌹🌹

फितरत में नुक्स है तो देख लो बदल के।
साथी नहीं मिलेगा तो क्या करेगा चल के।।

होगा भला तो थोड़ा खुद को सुधार लेंगे।
बदलेगा ये जमाना धरती भी बदल देंगे।।
आदत बुरी बदल के जायेगा तू शरण में।
होंगे दरस प्रभु के रह लेगा तू चरण में।।
है आदमी अगर तू दिख इंसान बन के।
फितरत में नुक्स है तो देख लो बदल के।।

आदत से तेरी प्यारे लोगों पे क्या असर है।
आलस के ही कारण रहता तू दर ब दर है।।
आदत से नशे की घर गृहस्थी है उजड़ती।
मिलता है क्या नशे से सेहत भी है बिगड़ती।।
नाश करता नशा है सोचो जरा तो रुक के।
फितरत में नुक्स है तो देख लो बदल के।।

आदत है झूठ की गर विश्वास क्यों जमेगा।
सिर भी झुकेगा तेरा लज्जा से मर मिटेगा।।
शेखी बघारने की अच्छी नहीं है फितरत।
लोगों से दूर होगा कैसे मिलेगी शोहरत।।
दम होगा बात में जब होगी विचार कर के।।
फितरत में नुक्स है तो देख लो बदल के।।
****************************************
उमेश मेहरा
गाडरवारा (एम पी)
9479611151

4 Likes · 2 Comments · 475 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
*झाड़ू (बाल कविता)*
*झाड़ू (बाल कविता)*
Ravi Prakash
Plastic plastic everywhere.....
Plastic plastic everywhere.....
Sridevi Sridhar
पलकों की
पलकों की
हिमांशु Kulshrestha
साड़ी हर नारी की शोभा
साड़ी हर नारी की शोभा
ओनिका सेतिया 'अनु '
अक्सर सच्ची महोब्बत,
अक्सर सच्ची महोब्बत,
शेखर सिंह
*
*"रोटी"*
Shashi kala vyas
3079.*पूर्णिका*
3079.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
हम फर्श पर गुमान करते,
हम फर्श पर गुमान करते,
Neeraj Agarwal
अन्हारक दीप
अन्हारक दीप
Acharya Rama Nand Mandal
कुंती कान्हा से कहा,
कुंती कान्हा से कहा,
Satish Srijan
सोच की अय्याशीया
सोच की अय्याशीया
Sandeep Pande
एक ख़्वाहिश
एक ख़्वाहिश
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
वो रास्ता तलाश रहा हूं
वो रास्ता तलाश रहा हूं
Vikram soni
■ हास्यमय समूह गीत
■ हास्यमय समूह गीत
*Author प्रणय प्रभात*
उसका प्यार
उसका प्यार
Dr MusafiR BaithA
प्रेम और घृणा दोनों ऐसे
प्रेम और घृणा दोनों ऐसे
Neelam Sharma
इतने दिनों के बाद
इतने दिनों के बाद
Mrs PUSHPA SHARMA {पुष्पा शर्मा अपराजिता}
डॉ अरुण कुमार शास्त्री
डॉ अरुण कुमार शास्त्री
DR ARUN KUMAR SHASTRI
जिसे सुनके सभी झूमें लबों से गुनगुनाएँ भी
जिसे सुनके सभी झूमें लबों से गुनगुनाएँ भी
आर.एस. 'प्रीतम'
भूल भूल हुए बैचैन
भूल भूल हुए बैचैन
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
ईश्वर बहुत मेहरबान है, गर बच्चियां गरीब हों,
ईश्वर बहुत मेहरबान है, गर बच्चियां गरीब हों,
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
धरती के भगवान
धरती के भगवान
Dr. Pradeep Kumar Sharma
लोकसभा बसंती चोला,
लोकसभा बसंती चोला,
SPK Sachin Lodhi
मैं लिखता हूँ जो सोचता हूँ !
मैं लिखता हूँ जो सोचता हूँ !
DrLakshman Jha Parimal
बादल
बादल
Shankar suman
इतना रोई कलम
इतना रोई कलम
Dhirendra Singh
आदमियों की जीवन कहानी
आदमियों की जीवन कहानी
Rituraj shivem verma
राधा अष्टमी पर कविता
राधा अष्टमी पर कविता
कार्तिक नितिन शर्मा
"जुल्मो-सितम"
Dr. Kishan tandon kranti
बूँद-बूँद से बनता सागर,
बूँद-बूँद से बनता सागर,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
Loading...