Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
23 Mar 2023 · 1 min read

🌸Prodigy Love-48🌸

Oh Dear!
Be serious.
In every moments.
We pay attention on every tendency.
Of our body,soul and mind.
They all,should in one line.
All should in agility.
Pin point silence with Faith.
We are not frightening.
We are becoming determine.
Underscore all the guilt and weak grit.
With Reverance in the form of true love.
No one can realize this true love except you and me.
Nothing is false.
Let Live this perpetual righteousness.
Let not become slave of foolishness.
True love does not demand false persona.
It is not personality cult.
It is TRUE LOVE.
GOD is TRUE LOVE.
Patience is the key of True Love.
In every domain.
God is mine and your.

©® Abhishek Parashar “Aanand”

Language: English
37 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
*कोई नई ना बात है*
*कोई नई ना बात है*
Dushyant Kumar
रिश्तों की मर्यादा
रिश्तों की मर्यादा
Rajni kapoor
सबके साथ हमें चलना है
सबके साथ हमें चलना है
DrLakshman Jha Parimal
💐प्रेम कौतुक-436💐
💐प्रेम कौतुक-436💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
पाया ऊँचा ओहदा, रही निम्न क्यों सोच ?
पाया ऊँचा ओहदा, रही निम्न क्यों सोच ?
डॉ.सीमा अग्रवाल
भुला भुला कर के भी नहीं भूल पाओगे,
भुला भुला कर के भी नहीं भूल पाओगे,
Buddha Prakash
सामाजिक न्याय के प्रश्न पर
सामाजिक न्याय के प्रश्न पर
Shekhar Chandra Mitra
अगर सीता स्वर्ण हिरण चाहेंगी....
अगर सीता स्वर्ण हिरण चाहेंगी....
Vishal babu (vishu)
संत ज्ञानेश्वर (ज्ञानदेव)
संत ज्ञानेश्वर (ज्ञानदेव)
Pravesh Shinde
मलूल
मलूल
Satish Srijan
हे प्रभु मेरी विनती सुन लो , प्रभु दर्शन की आस जगा दो
हे प्रभु मेरी विनती सुन लो , प्रभु दर्शन की आस जगा दो
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
दिल से मुझको सदा दीजिए।
दिल से मुझको सदा दीजिए।
सत्य कुमार प्रेमी
कोना मेरे नाम का
कोना मेरे नाम का
Dr.Priya Soni Khare
ओ मेरी जान
ओ मेरी जान
gurudeenverma198
*यह ज़िन्दगी*
*यह ज़िन्दगी*
Dr. Rajiv
घर की रानी
घर की रानी
Kanchan Khanna
ग़ज़ल
ग़ज़ल
Jitendra Kumar Noor
तुम जोर थे
तुम जोर थे
Ranjana Verma
मेरी चाहत
मेरी चाहत
umesh mehra
माँ से बढ़कर नहीं है कोई
माँ से बढ़कर नहीं है कोई
जगदीश लववंशी
ॐ
Prakash Chandra
मेरी अभिलाषा- उपवन बनना चाहता हूं।
मेरी अभिलाषा- उपवन बनना चाहता हूं।
Rajesh Kumar Arjun
भगवान श्री परशुराम जयंती
भगवान श्री परशुराम जयंती
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
ताकत
ताकत
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
*संपूर्ण रामचरितमानस का पाठ/ दैनिक रिपोर्ट*
*संपूर्ण रामचरितमानस का पाठ/ दैनिक रिपोर्ट*
Ravi Prakash
बचे जो अरमां तुम्हारे दिल में
बचे जो अरमां तुम्हारे दिल में
Ram Krishan Rastogi
'मेरे बिना'
'मेरे बिना'
नेहा आज़ाद
छोटा सा परिवेश हमारा
छोटा सा परिवेश हमारा
Er.Navaneet R Shandily
■ विश्व-स्तरीय कुंडली
■ विश्व-स्तरीय कुंडली
*Author प्रणय प्रभात*
बढ़ चुकी दुश्वारियों से
बढ़ चुकी दुश्वारियों से
Rashmi Sanjay
Loading...