Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
26 Aug 2016 · 1 min read

??मुक्तक?? माँ का प्यार ही

??मुक्तक??

माँ का प्यार ही इस संसार का पहला प्यार है
माँ से ही जुड़ी इस दुनिया के हर एक तार है
कल्पना किसी चीज़ की संभव नहीं माँ बिन
इस संसार का इस जीवन की माँ ही आधार है

✍✍दुष्यंत कुमार पटेल✍✍

Language: Hindi
654 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
#ग़ज़ल
#ग़ज़ल
*प्रणय प्रभात*
कुंडलिया - वर्षा
कुंडलिया - वर्षा
sushil sarna
শহরের মেঘ শহরেই মরে যায়
শহরের মেঘ শহরেই মরে যায়
Rejaul Karim
शुभ प्रभात मित्रो !
शुभ प्रभात मित्रो !
Mahesh Jain 'Jyoti'
रंजीत कुमार शुक्ल
रंजीत कुमार शुक्ल
Ranjeet kumar Shukla
"ये कलम"
Dr. Kishan tandon kranti
जीवन और मृत्यु के मध्य, क्या उच्च ये सम्बन्ध है।
जीवन और मृत्यु के मध्य, क्या उच्च ये सम्बन्ध है।
Manisha Manjari
अलग सी सोच है उनकी, अलग अंदाज है उनका।
अलग सी सोच है उनकी, अलग अंदाज है उनका।
निरंजन कुमार तिलक 'अंकुर'
अहोई अष्टमी का व्रत
अहोई अष्टमी का व्रत
Harminder Kaur
मत देख कि कितनी बार  हम  तोड़े  जाते  हैं
मत देख कि कितनी बार हम तोड़े जाते हैं
Anil Mishra Prahari
कुछ लोग जाहिर नहीं करते
कुछ लोग जाहिर नहीं करते
शेखर सिंह
शिव की महिमा
शिव की महिमा
Praveen Sain
ई-संपादक
ई-संपादक
Dr. Pradeep Kumar Sharma
मेरे तात !
मेरे तात !
Akash Yadav
कुछ तो उन्होंने भी कहा होगा
कुछ तो उन्होंने भी कहा होगा
पूर्वार्थ
मेरा हमेशा से यह मानना रहा है कि दुनिया में ‌जितना बदलाव हमा
मेरा हमेशा से यह मानना रहा है कि दुनिया में ‌जितना बदलाव हमा
Rituraj shivem verma
छलावा
छलावा
Sushmita Singh
इस्लामिक देश को छोड़ दिया जाए तो लगभग सभी देश के विश्वविद्या
इस्लामिक देश को छोड़ दिया जाए तो लगभग सभी देश के विश्वविद्या
Rj Anand Prajapati
मेंहदीं
मेंहदीं
Kumud Srivastava
निबंध
निबंध
Dhirendra Singh
गर्मी ने दिल खोलकर,मचा रखा आतंक
गर्मी ने दिल खोलकर,मचा रखा आतंक
Dr Archana Gupta
*मुश्किल है इश्क़ का सफर*
*मुश्किल है इश्क़ का सफर*
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
3669.💐 *पूर्णिका* 💐
3669.💐 *पूर्णिका* 💐
Dr.Khedu Bharti
सोच
सोच
Shyam Sundar Subramanian
नज़र को नज़रिए की तलाश होती है,
नज़र को नज़रिए की तलाश होती है,
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
*नववर्ष*
*नववर्ष*
Dr. Priya Gupta
'नव कुंडलिया 'राज' छंद' में रमेशराज के विरोधरस के गीत
'नव कुंडलिया 'राज' छंद' में रमेशराज के विरोधरस के गीत
कवि रमेशराज
माँ दया तेरी जिस पर होती
माँ दया तेरी जिस पर होती
Basant Bhagawan Roy
झरोखा
झरोखा
Sandeep Pande
नव प्रस्तारित छंद -- हरेम्ब
नव प्रस्तारित छंद -- हरेम्ब
Sushila joshi
Loading...