Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
17 Aug 2023 · 1 min read

🌷🙏जय श्री राधे कृष्णा🙏🌷

🌷🙏जय श्री राधे कृष्णा🙏🌷
🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹
नाचत राधिका संग गिरधारी
युगल छवि लगे अति ही प्यारी ,
कल कल करती कालिंदी के तट की
शोभा साजे सखी अति मनोहारी,
🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹
नाचत मयूरा संग युगल वर
सखियाँ जाएँ इनपर बलिहारी,
शोभा अतुलनीय बरण ना होवे
मुदित विराजें सखी पिय प्यारी,
🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹
नित नित उमंग तरंग प्रेम को
झूम रहे संग ललित सुकुमारी,
पायल की रुनझुन गूँजे चहुं और
अद्भुत छवि जावे ना बिसारी !!
🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी
झांसी बुन्देलखण्ड

1 Like · 433 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
शर्म करो
शर्म करो
Sanjay ' शून्य'
2626.पूर्णिका
2626.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
अतीत
अतीत
Shyam Sundar Subramanian
* याद है *
* याद है *
surenderpal vaidya
प्रिंट मीडिया का आभार
प्रिंट मीडिया का आभार
ऐ./सी.राकेश देवडे़ बिरसावादी
*आस्था*
*आस्था*
Dushyant Kumar
अपेक्षा किसी से उतनी ही रखें
अपेक्षा किसी से उतनी ही रखें
Paras Nath Jha
कोई जब पथ भूल जाएं
कोई जब पथ भूल जाएं
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
कभी लौट गालिब देख हिंदुस्तान को क्या हुआ है,
कभी लौट गालिब देख हिंदुस्तान को क्या हुआ है,
शेखर सिंह
गद्दार है वह जिसके दिल में
गद्दार है वह जिसके दिल में
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
कोरोना महामारी
कोरोना महामारी
अभिषेक पाण्डेय 'अभि ’
चंद मुक्तक- छंद ताटंक...
चंद मुक्तक- छंद ताटंक...
डॉ.सीमा अग्रवाल
वक़्त की पहचान🙏
वक़्त की पहचान🙏
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
समय की नाड़ी पर
समय की नाड़ी पर
*प्रणय प्रभात*
बुला रही है सीता तुम्हारी, तुमको मेरे रामजी
बुला रही है सीता तुम्हारी, तुमको मेरे रामजी
gurudeenverma198
सेवा
सेवा
ओंकार मिश्र
छोटे गाँव का लड़का था मैं
छोटे गाँव का लड़का था मैं
The_dk_poetry
कपूत।
कपूत।
Acharya Rama Nand Mandal
जब तुमने सहर्ष स्वीकारा है!
जब तुमने सहर्ष स्वीकारा है!
ज्ञानीचोर ज्ञानीचोर
अवसाद
अवसाद
Dr Parveen Thakur
ओ दूर के मुसाफ़िर....
ओ दूर के मुसाफ़िर....
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
नीलेश
नीलेश
Dhriti Mishra
.....*खुदसे जंग लढने लगा हूं*......
.....*खुदसे जंग लढने लगा हूं*......
Naushaba Suriya
- ଓଟେରି ସେଲଭା କୁମାର
- ଓଟେରି ସେଲଭା କୁମାର
Otteri Selvakumar
समय ही तो हमारी जिंदगी हैं
समय ही तो हमारी जिंदगी हैं
Neeraj Agarwal
कण कण में है श्रीराम
कण कण में है श्रीराम
Santosh kumar Miri
*आता मौसम ठंड का, ज्यों गर्मी के बाद (कुंडलिया)*
*आता मौसम ठंड का, ज्यों गर्मी के बाद (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
"एक दीप जलाना चाहूँ"
Ekta chitrangini
*लम्हे* ( 24 of 25)
*लम्हे* ( 24 of 25)
Kshma Urmila
"मुद्रा"
Dr. Kishan tandon kranti
Loading...