Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
7 Dec 2019 · 1 min read

【12】 **” तितली की उड़ान “**

तितली उड़ी उड़ के चली, तितली ढूंढे फूलों की गली
फूलों की गली जब उसे ना मिली, तितली ने देखी एक नई कली
{1} तितली उड़ कर कली से मिली, कली से तितली यू बोली
क्यों री करली तू क्यों खिली, कली ने कहा मुझे धूप ना मिली
तितली कहे क्यों धूप ना मिली, कली कहे मैं तरू छाँव में पली
तितली उड़ी …………..
{2} आगे बढ़ तितली फूलों से मिली, फूलों ने कहा तितली कहाँ को चली
तितली कहे मुझे भूख है लगी, फूलों ने कहा तेरी बात है भली
फूलों से पूंछ तितली रस पी ली, फूलों से कहे तितली राजा बलि
तितली उड़ी ………….
{3} रस पी तितली आगे बढ़ी, आगे बढ़ तितली हरियाली से मिली
हरियाली की चादर ओढे़ घास हरी, घास से तितली मुँह खोली
घास तेरी शोभा ओस कणों से बढ़ी, लगे घास सबको मनकी भली
तितली उड़ी ………….

Arise DGRJ [ Khaimsingh Sain ]
M.A, B.Ed from Rajasthan University
Mob. – 9266034599

5 Likes · 1 Comment · 670 Views
You may also like:
जीवन आनंद
Shyam Sundar Subramanian
जनता देख रही है खड़ी खड़ी
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
*यदि सरदार पटेल न होते तो भारत रियासतों का संघ...
Ravi Prakash
श्रीमती का उलाहना
श्री रमण 'श्रीपद्'
संत की महिमा
Buddha Prakash
बरसात और बाढ़
डा. सूर्यनारायण पाण्डेय
तिरंगा मेरी जान
AMRESH KUMAR VERMA
तू रूह में मेरी कुछ इस तरह समा रहा है।
Taj Mohammad
शरद पूर्णिमा
अभिनव अदम्य
सही मार्ग अपनाएँ
Anamika Singh
इतिहास लिखना है
Shakti Tripathi Dev
नया सपना
Kanchan Khanna
पापा
Nitu Sah
तिरंगा चूमता नभ को...
अश्क चिरैयाकोटी
'बंधन'
Godambari Negi
आंसूओं की नमी
Dr fauzia Naseem shad
चिलचिलती धूप
Nishant prakhar
थोड़ा हैं तो थोड़े की ज़रुरत हैं
Surabhi bharati
भोजपुरी भाषा
Er.Navaneet R Shandily
This is how the journey of a warrior begins.
Manisha Manjari
कर्म का मर्म
Pooja Singh
जल
मनोज कर्ण
"अच्छी आदत रोज की"
Dushyant Kumar
समय का मोल
Pt Sarvesh Yadav
मैं तुम्हारे स्वरूप की बात करता हूँ
gurudeenverma198
नन्हा और अतीत
डॉ प्रवीण कुमार श्रीवास्तव, प्रेम
हायकू
Ajay Chakwate *अजेय*
✍️हाथ के सारे तिरंगे ऊँचे लहराये..!✍️
'अशांत' शेखर
दिवाली
Aditya Prakash
|| संत नरसी (नरसिंह) मेहता || 🌷
Pravesh Shinde
Loading...