Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
25 Sep 2022 · 1 min read

✍️कुछ रक़ीब थे…

जो हमदर्दी जतानेवाले बहुत करीब थे
उनमें से छुपे इरादोवाले कुछ रक़ीब थे
………………………………………………………//
©✍️’अशांत’ शेखर
25/09/2022

Language: Hindi
Tag: शेर
4 Likes · 4 Comments · 156 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
बेहिसाब सवालों के तूफान।
बेहिसाब सवालों के तूफान।
Taj Mohammad
* रेल हादसा *
* रेल हादसा *
DR ARUN KUMAR SHASTRI
आस
आस
Shyam Sundar Subramanian
"मत पूछो"
Dr. Kishan tandon kranti
ॐ शिव शंकर भोले नाथ र
ॐ शिव शंकर भोले नाथ र
Swami Ganganiya
मेरे पास नींद का फूल🌺,
मेरे पास नींद का फूल🌺,
Jitendra kumar
अश'आर हैं तेरे।
अश'आर हैं तेरे।
Neelam Sharma
तन्हाईयां सुकून देंगी तुम मिज़ाज बिंदास रखना,
तन्हाईयां सुकून देंगी तुम मिज़ाज बिंदास रखना,
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
बापू के संजय
बापू के संजय
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
■ महसूस करें तो...
■ महसूस करें तो...
*प्रणय प्रभात*
किसी ने दिया तो था दुआ सा कुछ....
किसी ने दिया तो था दुआ सा कुछ....
सिद्धार्थ गोरखपुरी
कभी छोड़ना नहीं तू , यह हाथ मेरा
कभी छोड़ना नहीं तू , यह हाथ मेरा
gurudeenverma198
देव्यपराधक्षमापन स्तोत्रम
देव्यपराधक्षमापन स्तोत्रम
पंकज प्रियम
अफ़सोस न करो
अफ़सोस न करो
Dr fauzia Naseem shad
जितना आपके पास उपस्थित हैं
जितना आपके पास उपस्थित हैं
Aarti sirsat
ये भावनाओं का भंवर है डुबो देंगी
ये भावनाओं का भंवर है डुबो देंगी
ruby kumari
बाल कविता मोटे लाला
बाल कविता मोटे लाला
Ram Krishan Rastogi
प्रिये का जन्म दिन
प्रिये का जन्म दिन
विजय कुमार अग्रवाल
पग पग पे देने पड़ते
पग पग पे देने पड़ते
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
ग़ज़ल
ग़ज़ल
ईश्वर दयाल गोस्वामी
बेटी ही बेटी है सबकी, बेटी ही है माँ
बेटी ही बेटी है सबकी, बेटी ही है माँ
Anand Kumar
* टाई-सँग सँवरा-सजा ,लैपटॉप ले साथ【कुंडलिया】*
* टाई-सँग सँवरा-सजा ,लैपटॉप ले साथ【कुंडलिया】*
Ravi Prakash
2897.*पूर्णिका*
2897.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
होली पर
होली पर
Dr.Pratibha Prakash
पावन सावन मास में
पावन सावन मास में
ओम प्रकाश श्रीवास्तव
Just try
Just try
पूर्वार्थ
तुम वादा करो, मैं निभाता हूँ।
तुम वादा करो, मैं निभाता हूँ।
अजहर अली (An Explorer of Life)
जी हां मजदूर हूं
जी हां मजदूर हूं
Anamika Tiwari 'annpurna '
एक दोहा...
एक दोहा...
डॉ.सीमा अग्रवाल
" तार हूं मैं "
Dr Meenu Poonia
Loading...