Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
6 Feb 2024 · 1 min read

◆कुटिल नीति◆

◆कुटिल नीति◆

अपनी “अठन्नी” चलाने का एक ही “नुस्ख़ा।” दूसरों की “चवन्नी” न चलने देना।।

●प्रणय प्रभात●

1 Like · 54 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
जीने दो मुझे अपने वसूलों पर
जीने दो मुझे अपने वसूलों पर
goutam shaw
नयन कुंज में स्वप्न का,
नयन कुंज में स्वप्न का,
sushil sarna
****उज्जवल रवि****
****उज्जवल रवि****
Kavita Chouhan
उड़ान
उड़ान
Saraswati Bajpai
पाया ऊँचा ओहदा, रही निम्न क्यों सोच ?
पाया ऊँचा ओहदा, रही निम्न क्यों सोच ?
डॉ.सीमा अग्रवाल
इंसान इंसानियत को निगल गया है
इंसान इंसानियत को निगल गया है
Bhupendra Rawat
ग़ज़ल/नज़्म - शाम का ये आसमांँ आज कुछ धुंधलाया है
ग़ज़ल/नज़्म - शाम का ये आसमांँ आज कुछ धुंधलाया है
अनिल कुमार
असोक विजयदसमी
असोक विजयदसमी
Mahender Singh
चलो चलें बौद्ध धम्म में।
चलो चलें बौद्ध धम्म में।
Buddha Prakash
तन्हाईयाँ
तन्हाईयाँ
Shyam Sundar Subramanian
"स्मार्ट विलेज"
Dr. Kishan tandon kranti
बंद पंछी
बंद पंछी
लक्ष्मी सिंह
चांद से सवाल
चांद से सवाल
Nanki Patre
कशमें मेरे नाम की।
कशमें मेरे नाम की।
Diwakar Mahto
वक्त लगता है
वक्त लगता है
Vandna Thakur
Teri gunehgar hu mai ,
Teri gunehgar hu mai ,
Sakshi Tripathi
एक कहानी- पुरानी यादें
एक कहानी- पुरानी यादें
Neeraj Agarwal
*जन्म-मरण : नौ दोहे*
*जन्म-मरण : नौ दोहे*
Ravi Prakash
मानस हंस छंद
मानस हंस छंद
Subhash Singhai
तुम्हें पाना-खोना एकसार सा है--
तुम्हें पाना-खोना एकसार सा है--
Shreedhar
कसौटियों पर कसा गया व्यक्तित्व संपूर्ण होता है।
कसौटियों पर कसा गया व्यक्तित्व संपूर्ण होता है।
Neelam Sharma
"पँछियोँ मेँ भी, अमिट है प्यार..!"
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
गले लोकतंत्र के नंगे / मुसाफ़िर बैठा
गले लोकतंत्र के नंगे / मुसाफ़िर बैठा
Dr MusafiR BaithA
दुनिया एक दुष्चक्र है । आप जहाँ से शुरू कर रहे हैं आप आखिर म
दुनिया एक दुष्चक्र है । आप जहाँ से शुरू कर रहे हैं आप आखिर म
पूर्वार्थ
रूप तुम्हारा,  सच्चा सोना
रूप तुम्हारा, सच्चा सोना
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
🧟☠️अमावस की रात☠️🧟
🧟☠️अमावस की रात☠️🧟
SPK Sachin Lodhi
23, मायके की याद
23, मायके की याद
Dr Shweta sood
मैं तो महज बुनियाद हूँ
मैं तो महज बुनियाद हूँ
VINOD CHAUHAN
अब उठो पार्थ हुंकार करो,
अब उठो पार्थ हुंकार करो,
अनूप अम्बर
ज़िंदगी को इस तरह
ज़िंदगी को इस तरह
Dr fauzia Naseem shad
Loading...