Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
15 Jun 2023 · 1 min read

■ सीधी बात…

■ सीधी बात…
समझ अपनी-अपनी। जिसे जब समझ आ जाए तब ठीक। क्या फ़र्क़ पड़ता है? 😊😊

Language: Hindi
1 Like · 311 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
जल बचाओ , ना बहाओ
जल बचाओ , ना बहाओ
Buddha Prakash
"सदा से"
Dr. Kishan tandon kranti
जो सब समझे वैसी ही लिखें वरना लोग अनदेखी कर देंगे!@परिमल
जो सब समझे वैसी ही लिखें वरना लोग अनदेखी कर देंगे!@परिमल
DrLakshman Jha Parimal
दोस्ती
दोस्ती
Shashi Dhar Kumar
मानसिक विकलांगता
मानसिक विकलांगता
Dr fauzia Naseem shad
तेवरी
तेवरी
कवि रमेशराज
अंधविश्वास
अंधविश्वास
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
वैनिटी बैग
वैनिटी बैग
Awadhesh Singh
अपने मन मंदिर में, मुझे रखना, मेरे मन मंदिर में सिर्फ़ तुम रहना…
अपने मन मंदिर में, मुझे रखना, मेरे मन मंदिर में सिर्फ़ तुम रहना…
Anand Kumar
पति की खुशी ,लंबी उम्र ,स्वास्थ्य के लिए,
पति की खुशी ,लंबी उम्र ,स्वास्थ्य के लिए,
ओनिका सेतिया 'अनु '
ऐ जिंदगी
ऐ जिंदगी
अनिल "आदर्श"
नव वर्ष हैप्पी वाला
नव वर्ष हैप्पी वाला
Satish Srijan
आंसुओं के समंदर
आंसुओं के समंदर
अरशद रसूल बदायूंनी
क्रिकेटी हार
क्रिकेटी हार
Sanjay ' शून्य'
सच तो बस
सच तो बस
Neeraj Agarwal
मुस्कराहटों के पीछे
मुस्कराहटों के पीछे
Surinder blackpen
चित्र कितना भी ख़ूबसूरत क्यों ना हो खुशबू तो किरदार में है।।
चित्र कितना भी ख़ूबसूरत क्यों ना हो खुशबू तो किरदार में है।।
Lokesh Sharma
ज़रूरी ना समझा
ज़रूरी ना समझा
Madhuyanka Raj
धरा हमारी स्वच्छ हो, सबका हो उत्कर्ष।
धरा हमारी स्वच्छ हो, सबका हो उत्कर्ष।
surenderpal vaidya
नंद के घर आयो लाल
नंद के घर आयो लाल
Kavita Chouhan
2491.पूर्णिका
2491.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
#जिज्ञासा-
#जिज्ञासा-
*प्रणय प्रभात*
चाँदी की चादर तनी, हुआ शीत का अंत।
चाँदी की चादर तनी, हुआ शीत का अंत।
डॉ.सीमा अग्रवाल
84कोसीय नैमिष परिक्रमा
84कोसीय नैमिष परिक्रमा
डॉ प्रवीण कुमार श्रीवास्तव, प्रेम
ग़ज़ल
ग़ज़ल
ईश्वर दयाल गोस्वामी
हे माँ अम्बे रानी शेरावाली
हे माँ अम्बे रानी शेरावाली
Basant Bhagawan Roy
मेघ गोरे हुए साँवरे
मेघ गोरे हुए साँवरे
Dr Archana Gupta
संपूर्णता किसी के मृत होने का प्रमाण है,
संपूर्णता किसी के मृत होने का प्रमाण है,
Pramila sultan
सावन के पर्व-त्योहार
सावन के पर्व-त्योहार
लक्ष्मी सिंह
क्यों नहीं निभाई तुमने, मुझसे वफायें
क्यों नहीं निभाई तुमने, मुझसे वफायें
gurudeenverma198
Loading...