Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
15 Aug 2023 · 1 min read

■ भारत और पाकिस्तान

■ भारत और पाकिस्तान
(आज़ादी के 76 साल बाद)

Language: Hindi
2 Likes · 284 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
कसास दो उस दर्द का......
कसास दो उस दर्द का......
shabina. Naaz
यही पाँच हैं वावेल (Vowel) प्यारे
यही पाँच हैं वावेल (Vowel) प्यारे
Jatashankar Prajapati
*चलो नई जिंदगी की शुरुआत करते हैं*.....
*चलो नई जिंदगी की शुरुआत करते हैं*.....
Harminder Kaur
नारी के चरित्र पर
नारी के चरित्र पर
Dr fauzia Naseem shad
मुख्तलिफ होते हैं ज़माने में किरदार सभी।
मुख्तलिफ होते हैं ज़माने में किरदार सभी।
Phool gufran
* धरा पर खिलखिलाती *
* धरा पर खिलखिलाती *
surenderpal vaidya
माँ
माँ
Dr. Pradeep Kumar Sharma
मैं अपनी आँख का ऐसा कोई एक ख्वाब हो जाऊँ
मैं अपनी आँख का ऐसा कोई एक ख्वाब हो जाऊँ
Shweta Soni
कितना आसान होता है किसी रिश्ते को बनाना
कितना आसान होता है किसी रिश्ते को बनाना
पूर्वार्थ
आँखों से भी मतांतर का एहसास होता है , पास रहकर भी विभेदों का
आँखों से भी मतांतर का एहसास होता है , पास रहकर भी विभेदों का
DrLakshman Jha Parimal
चुप रहो
चुप रहो
Sûrëkhâ
"सफलता की चाह"
Dr. Kishan tandon kranti
■ स्वाभाविक बात...
■ स्वाभाविक बात...
*प्रणय प्रभात*
कूल नानी
कूल नानी
Neelam Sharma
*देखो ऋतु आई वसंत*
*देखो ऋतु आई वसंत*
Dr. Priya Gupta
सुबह आंख लग गई
सुबह आंख लग गई
Ashwani Kumar Jaiswal
सच तो हम और आप ,
सच तो हम और आप ,
Neeraj Agarwal
ਹਾਸਿਆਂ ਵਿਚ ਲੁਕੇ ਦਰਦ
ਹਾਸਿਆਂ ਵਿਚ ਲੁਕੇ ਦਰਦ
Surinder blackpen
कल को छोड़कर
कल को छोड़कर
Meera Thakur
2444.पूर्णिका
2444.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
"उसे पाने की ख़ातिर....."
ठाकुर प्रतापसिंह "राणाजी"
भाईचारा
भाईचारा
Mukta Rashmi
लू, तपिश, स्वेदों का व्यापार करता है
लू, तपिश, स्वेदों का व्यापार करता है
Anil Mishra Prahari
हम बेजान हैं।
हम बेजान हैं।
Taj Mohammad
खुशबू सी बिखरी हैं फ़िजा
खुशबू सी बिखरी हैं फ़िजा
Sunita
तुझसा कोई प्यारा नहीं
तुझसा कोई प्यारा नहीं
Mamta Rani
*खरगोश (बाल कविता)*
*खरगोश (बाल कविता)*
Ravi Prakash
*कृष्ण की दीवानी*
*कृष्ण की दीवानी*
Shashi kala vyas
धरती ने जलवाष्पों को आसमान तक संदेश भिजवाया
धरती ने जलवाष्पों को आसमान तक संदेश भिजवाया
ruby kumari
मां ने जब से लिख दिया, जीवन पथ का गीत।
मां ने जब से लिख दिया, जीवन पथ का गीत।
Suryakant Dwivedi
Loading...