Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
1 Mar 2023 · 1 min read

■ कटाक्ष

■ सियासी_सूरमा
जो पार्टी का बना ढें चूरमा

Language: Hindi
1 Like · 154 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
पेड़ पौधे फूल तितली सब बनाता कौन है।
पेड़ पौधे फूल तितली सब बनाता कौन है।
सत्य कुमार प्रेमी
समरसता की दृष्टि रखिए
समरसता की दृष्टि रखिए
Dinesh Kumar Gangwar
आत्मविश्वास
आत्मविश्वास
Anamika Tiwari 'annpurna '
3489.🌷 *पूर्णिका* 🌷
3489.🌷 *पूर्णिका* 🌷
Dr.Khedu Bharti
दशमेश पिता, गोविंद गुरु
दशमेश पिता, गोविंद गुरु
Satish Srijan
आप अपना
आप अपना
Dr fauzia Naseem shad
है आँखों में कुछ नमी सी
है आँखों में कुछ नमी सी
हिमांशु Kulshrestha
अगर कुछ करना है,तो कर डालो ,वरना शुरू भी मत करना!
अगर कुछ करना है,तो कर डालो ,वरना शुरू भी मत करना!
पूर्वार्थ
ॐ
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
एक ही धरोहर के रूप - संविधान
एक ही धरोहर के रूप - संविधान
Desert fellow Rakesh
উত্তর দাও পাহাড়
উত্তর দাও পাহাড়
Arghyadeep Chakraborty
गीत-14-15
गीत-14-15
Dr. Sunita Singh
नया ट्रैफिक-प्लान (बाल कविता)
नया ट्रैफिक-प्लान (बाल कविता)
Ravi Prakash
हम आगे ही देखते हैं
हम आगे ही देखते हैं
Santosh Shrivastava
संस्कार संस्कृति सभ्यता
संस्कार संस्कृति सभ्यता
डॉ विजय कुमार कन्नौजे
पश्चाताप
पश्चाताप
DR ARUN KUMAR SHASTRI
रूप यौवन
रूप यौवन
surenderpal vaidya
”ज़िन्दगी छोटी नहीं होती
”ज़िन्दगी छोटी नहीं होती
शेखर सिंह
" खामोशी "
Aarti sirsat
महिमा है सतनाम की
महिमा है सतनाम की
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
कुछ परछाईयाँ चेहरों से, ज़्यादा डरावनी होती हैं।
कुछ परछाईयाँ चेहरों से, ज़्यादा डरावनी होती हैं।
Manisha Manjari
एक अध्याय नया
एक अध्याय नया
Priya princess panwar
योग
योग
डॉ०छोटेलाल सिंह 'मनमीत'
हर शक्स की नजरो से गिर गए जो इस कदर
हर शक्स की नजरो से गिर गए जो इस कदर
कृष्णकांत गुर्जर
आप और हम जीवन के सच
आप और हम जीवन के सच
Neeraj Agarwal
आगोश में रह कर भी पराया रहा
आगोश में रह कर भी पराया रहा
हरवंश हृदय
"सँवरने के लिए"
Dr. Kishan tandon kranti
मेरे शब्द, मेरी कविता, मेरे गजल, मेरी ज़िन्दगी का अभिमान हो तुम।
मेरे शब्द, मेरी कविता, मेरे गजल, मेरी ज़िन्दगी का अभिमान हो तुम।
Anand Kumar
लक्ष्य
लक्ष्य
Mukta Rashmi
रिवायत दिल की
रिवायत दिल की
Neelam Sharma
Loading...