Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
17 Aug 2023 · 1 min read

■ आज का चिंतन…

■ आज का चिंतन…

1 Like · 185 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
मेहनत करने की क्षमता के साथ आदमी में अगर धैर्य और विवेक भी ह
मेहनत करने की क्षमता के साथ आदमी में अगर धैर्य और विवेक भी ह
Paras Nath Jha
खींच रखी हैं इश्क़ की सारी हदें उसने,
खींच रखी हैं इश्क़ की सारी हदें उसने,
शेखर सिंह
छोड़कर साथ हमसफ़र का,
छोड़कर साथ हमसफ़र का,
Gouri tiwari
Safar : Classmates to Soulmates
Safar : Classmates to Soulmates
Prathmesh Yelne
*कभी लगता है : तीन शेर*
*कभी लगता है : तीन शेर*
Ravi Prakash
जब तलक था मैं अमृत, निचोड़ा गया।
जब तलक था मैं अमृत, निचोड़ा गया।
डॉ. अनिल 'अज्ञात'
वाणी
वाणी
Dr. Ramesh Kumar Nirmesh
* मुक्तक *
* मुक्तक *
surenderpal vaidya
पुत्र एवं जननी
पुत्र एवं जननी
रिपुदमन झा "पिनाकी"
ले हौसले बुलंद कर्म को पूरा कर,
ले हौसले बुलंद कर्म को पूरा कर,
Anamika Tiwari 'annpurna '
वक्त
वक्त
Madhavi Srivastava
करवाचौथ
करवाचौथ
Surinder blackpen
जीवन के पल दो चार
जीवन के पल दो चार
Bodhisatva kastooriya
राम छोड़ ना कोई हमारे..
राम छोड़ ना कोई हमारे..
Vijay kumar Pandey
ज्ञान के दाता तुम्हीं , तुमसे बुद्धि - विवेक ।
ज्ञान के दाता तुम्हीं , तुमसे बुद्धि - विवेक ।
Neelam Sharma
"खुदा याद आया"
Dr. Kishan tandon kranti
" चुस्की चाय की संग बारिश की फुहार
Dr Meenu Poonia
आजकल
आजकल
Munish Bhatia
*** एक दीप हर रोज रोज जले....!!! ***
*** एक दीप हर रोज रोज जले....!!! ***
VEDANTA PATEL
चुनौती
चुनौती
Ragini Kumari
सच तो कुछ भी न,
सच तो कुछ भी न,
Neeraj Agarwal
"साफ़गोई" ग़ज़ल
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
अरमान गिर पड़े थे राहों में
अरमान गिर पड़े थे राहों में
सिद्धार्थ गोरखपुरी
कब मेरे मालिक आएंगे!
कब मेरे मालिक आएंगे!
Kuldeep mishra (KD)
इस दुनिया में दोस्त हीं एक ऐसा विकल्प है जिसका कोई विकल्प नह
इस दुनिया में दोस्त हीं एक ऐसा विकल्प है जिसका कोई विकल्प नह
Shweta Soni
विपक्ष जो बांटे
विपक्ष जो बांटे
*Author प्रणय प्रभात*
3016.*पूर्णिका*
3016.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
If we’re just getting to know each other…call me…don’t text.
If we’re just getting to know each other…call me…don’t text.
पूर्वार्थ
दुःख हरणी
दुःख हरणी
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
" अधरों पर मधु बोल "
भगवती प्रसाद व्यास " नीरद "
Loading...