Sep 29, 2016 · 1 min read

ग़ज़ल ..’मै मिलूंगा तुझे…. अज़नबी की तरह..’

===*====*========*====*=*
ज़िंदगी में तड़प .. तिश्नगी की तरह
मौत से मिलन हो.. ज़िंदगी की तरह

आएगा ख्वाब फिर से.. यही सोचकर
आँख मूंदी रही…… तीरगी की तरह

ज़िंदगी के किसी मोड़ पर… आदतन
मै मिलूंगा तुझे…. अज़नबी की तरह

बेल सादाब थी….. मौसमी भी हवा
याद आया शख्स वो.. कमी की तरह

बदलती हैं इन दिनों… हरेक फितरत
गिरगिटों की शक्ल.. आदमी की तरह

कुछ अलग किस्म के लोग.. मिलते यहाँ
साथ रहते… …गगन व धरती की तरह

शौक की तरह प्यार करते हैं सनम
दिल दिल्लगी ‘ब’ आवारगी की तरह
===============*====*=*=*
रजिंदर सिंह छाबड़ा

98 Views
You may also like:
मौलिक विचार
डॉ.एल. सी. जैदिया 'जैदि'
युद्ध सिर्फ प्रश्न खड़ा करता हैं [भाग९]
Anamika Singh
विभाजन की व्यथा
Anamika Singh
बड़ा भाई बोल रहा हूं
Satpallm1978 Chauhan
देवदूत डॉक्टर
Buddha Prakash
"ममता" (तीन कुण्डलिया छन्द)
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
प्रेरक संस्मरण
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
भगवान सुनता क्यों नहीं ?
ओनिका सेतिया 'अनु '
"एक नज़्म लिख रहा हूँ"
Lohit Tamta
सिपाही
Buddha Prakash
प्रेम
Vikas Sharma'Shivaaya'
हर एक रिश्ता निभाता पिता है –गीतिका
रकमिश सुल्तानपुरी
मेरी धड़कन जूलियट और तेरा दिल रोमियो हो जाएगा
Krishan Singh
सहरा से नदी मिल गई
अरशद रसूल /Arshad Rasool
आसान नहीं होता है पिता बन पाना
Poetry By Satendra
घर
पंकज कुमार "कर्ण"
मुझे तुम्हारी जरूरत नही...
Sapna K S
1-अश्म पर यह तेरा नाम मैंने लिखा2- अश्म पर मेरा...
Pt. Brajesh Kumar Nayak
*साधुता और सद्भाव के पर्याय श्री निर्भय सरन गुप्ता :...
Ravi Prakash
💐💐प्रेम की राह पर-14💐💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
ज़माने की नज़र से।
Taj Mohammad
कुएं का पानी की कहानी | Water In The Well...
harpreet.kaur19171
🌺🌻🌷तुम मिलोगे मुझे यह वादा करो🌺🌻🌷
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
नेकी कर इंटरनेट पर डाल
हरीश सुवासिया
ये दूरियां मिटा दो ना
Nitu Sah
मिटटी
Vikas Sharma'Shivaaya'
दिल और गुलाब
Vikas Sharma'Shivaaya'
पिता का साया हूँ
N.ksahu0007@writer
ग़ज़ल
सुरेखा कादियान 'सृजना'
दीया तले अंधेरा
Vikas Sharma'Shivaaya'
Loading...