Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
24 Mar 2024 · 1 min read

होली

शैशव यौवन हुए तरंगित,
नाचे मयूर बन मन ।
श्याम सलोने करें ठिठोली,
धूम मची मधुबन।।
रंग मुरारी रंगी राधिका,
रंग गई घाघरा चोली।
नील गगन रक्ताभ हुआ,
रंगे प्रेम रंग हमजोली।।
जमकर खेलो खूब मचाओ,
होली पर हुड़दंग।
प्रेम सरस रसधार बह रही,
तन- मन सब सतरंग।।
नीलम शर्मा ✍️

31 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
तुझे पाने की तलाश में...!
तुझे पाने की तलाश में...!
singh kunwar sarvendra vikram
राह देखेंगे तेरी इख़्तिताम की हद तक,
राह देखेंगे तेरी इख़्तिताम की हद तक,
Neelam Sharma
आफत की बारिश
आफत की बारिश
ओम प्रकाश श्रीवास्तव
प्यार विश्वाश है इसमें कोई वादा नहीं होता!
प्यार विश्वाश है इसमें कोई वादा नहीं होता!
Diwakar Mahto
*सुबह टहलना (बाल कविता)*
*सुबह टहलना (बाल कविता)*
Ravi Prakash
इतिहास गवाह है ईस बात का
इतिहास गवाह है ईस बात का
Pramila sultan
शीर्षक : पायजामा (लघुकथा)
शीर्षक : पायजामा (लघुकथा)
Dinesh Yadav (दिनेश यादव)
अवधी मुक्तक
अवधी मुक्तक
प्रीतम श्रावस्तवी
#प्रभात_चिन्तन
#प्रभात_चिन्तन
*प्रणय प्रभात*
मेरी लाज है तेरे हाथ
मेरी लाज है तेरे हाथ
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
लगाव
लगाव
Arvina
A daughter's reply
A daughter's reply
Bidyadhar Mantry
इंडियन टाइम
इंडियन टाइम
Dr. Pradeep Kumar Sharma
एक गुल्लक रख रखी है मैंने,अपने सिरहाने,बड़ी सी...
एक गुल्लक रख रखी है मैंने,अपने सिरहाने,बड़ी सी...
पूर्वार्थ
मेरे जीवन में सबसे
मेरे जीवन में सबसे
लक्ष्मी वर्मा प्रतीक्षा
झुका के सर, खुदा की दर, तड़प के रो दिया मैने
झुका के सर, खुदा की दर, तड़प के रो दिया मैने
Kumar lalit
सत्य सनातन गीत है गीता
सत्य सनातन गीत है गीता
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
अर्थ  उपार्जन के लिए,
अर्थ उपार्जन के लिए,
sushil sarna
2824. *पूर्णिका*
2824. *पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
राम कृष्ण हरि
राम कृष्ण हरि
krishna waghmare , कवि,लेखक,पेंटर
नयकी दुलहिन
नयकी दुलहिन
आनन्द मिश्र
डॉ अरुण कुमार शास्त्री
डॉ अरुण कुमार शास्त्री
DR ARUN KUMAR SHASTRI
ऐ दोस्त जो भी आता है मेरे करीब,मेरे नसीब में,पता नहीं क्यों,
ऐ दोस्त जो भी आता है मेरे करीब,मेरे नसीब में,पता नहीं क्यों,
Dr. Man Mohan Krishna
लोग आपके प्रसंसक है ये आपकी योग्यता है
लोग आपके प्रसंसक है ये आपकी योग्यता है
Ranjeet kumar patre
सच तो आज न हम न तुम हो
सच तो आज न हम न तुम हो
Neeraj Agarwal
আগামীকালের স্ত্রী
আগামীকালের স্ত্রী
Otteri Selvakumar
R J Meditation Centre, Darbhanga
R J Meditation Centre, Darbhanga
Ravikesh Jha
राहतों की हो गयी है मुश्किलों से दोस्ती,
राहतों की हो गयी है मुश्किलों से दोस्ती,
Abhishek Shrivastava "Shivaji"
जनरेशन गैप / पीढ़ी अंतराल
जनरेशन गैप / पीढ़ी अंतराल
नंदलाल सिंह 'कांतिपति'
आसमां से आई
आसमां से आई
Punam Pande
Loading...