Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
4 Apr 2024 · 1 min read

होली मुबारक

बरस रहा है जो रंगों का प्यार होली में।
उमड़ रहा है प्यार बे शुमार होली में।
🌹
तेरे दीदार की ख्वाहिश में दिल हमारा है।
इसीलिए तो है दिल बेकरार होली में।
🌹
करेगा वादा वफा, मुझ से मिलने आएगा।
मैं कर रहा हूं तेरा इंतजार होली मे।
🌹
सभी हैं डूबे हुए आज ऐसी मस्ती में।
किसी का दिल पे नहीं अख्तियार होली में।
🌹
सजी हुई है यह धरती तमाम रंगों से।
फिजा भी मस्त है रंगे बहार होली में।
🌹
सभी हैं मस्त यहां पीर जवां बच्चे भी।
सभी पर छाया हुआ है खुमार होली में।
🌹
गले लगा लो भुला करके दुश्मनी सारी।
कोई रूठे मनाओ बार-बार होली में।
💖
बिछाओ फूल अब मेहमान आने वाले हैं।
हटाओ राहों से जो भी हों खार होली में।
सगीर उसको गले से लगाओ प्यार करो।
कि मुझसे मिलने को आया है यार होली में।

शायर
सगीर अहमद सिद्दीकी

Language: Hindi
35 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
अपनी कीमत उतनी रखिए जितना अदा की जा सके
अपनी कीमत उतनी रखिए जितना अदा की जा सके
Ranjeet kumar patre
क्या ये गलत है ?
क्या ये गलत है ?
Rakesh Bahanwal
चलो♥️
चलो♥️
Srishty Bansal
हमें कोयले संग हीरे मिले हैं।
हमें कोयले संग हीरे मिले हैं।
surenderpal vaidya
मुंहतोड़ जवाब मिलेगा
मुंहतोड़ जवाब मिलेगा
Dr. Pradeep Kumar Sharma
कभी गुज़र न सका जो गुज़र गया मुझमें
कभी गुज़र न सका जो गुज़र गया मुझमें
Shweta Soni
दूसरों को खरी-खोटी सुनाने
दूसरों को खरी-खोटी सुनाने
Dr.Rashmi Mishra
कविता: सपना
कविता: सपना
Rajesh Kumar Arjun
लें दे कर इंतज़ार रह गया
लें दे कर इंतज़ार रह गया
Manoj Mahato
‘ विरोधरस ‘---8. || आलम्बन के अनुभाव || +रमेशराज
‘ विरोधरस ‘---8. || आलम्बन के अनुभाव || +रमेशराज
कवि रमेशराज
*सच्चाई यह जानिए, जीवन दुःख-प्रधान (कुंडलिया)*
*सच्चाई यह जानिए, जीवन दुःख-प्रधान (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
इश्क का बाजार
इश्क का बाजार
Suraj Mehra
निराशा एक आशा
निराशा एक आशा
डॉ. शिव लहरी
■ आज की सलाह। धूर्तों के लिए।।
■ आज की सलाह। धूर्तों के लिए।।
*प्रणय प्रभात*
दिल सचमुच आनंदी मीर बना।
दिल सचमुच आनंदी मीर बना।
Pt. Brajesh Kumar Nayak
एक ही राम
एक ही राम
Satish Srijan
दिल से जाना
दिल से जाना
Sangeeta Beniwal
"मन और मनोबल"
Dr. Kishan tandon kranti
*अगर दूसरे आपके जीवन की सुंदरता को मापते हैं तो उसके मापदंड
*अगर दूसरे आपके जीवन की सुंदरता को मापते हैं तो उसके मापदंड
Seema Verma
जिंदगी का सवाल आया है।
जिंदगी का सवाल आया है।
Dr fauzia Naseem shad
पत्र
पत्र
लक्ष्मी सिंह
ग़ज़ल
ग़ज़ल
ईश्वर दयाल गोस्वामी
23/216. *छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
23/216. *छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
"Guidance of Mother Nature"
Manisha Manjari
Next
Next
Rajan Sharma
इश्क़
इश्क़
हिमांशु Kulshrestha
हकीकत की जमीं पर हूँ
हकीकत की जमीं पर हूँ
VINOD CHAUHAN
ग़ज़ल
ग़ज़ल
डॉक्टर रागिनी
सावन आज फिर उमड़ आया है,
सावन आज फिर उमड़ आया है,
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
धीरज रख ओ मन
धीरज रख ओ मन
Harish Chandra Pande
Loading...