Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
5 Oct 2023 · 1 min read

हिन्दी दोहा बिषय-चरित्र

हिन्दी दोहा विषय – चरित्र (भाग-2)
4
जैसी संगत नर करे , हो #राना बदलाव |
तब चरित्र होता प्रकट , बतलाता है भाव ||

5
यदि चरित्र उज्ज्वल रहे , नर बनता गुणवान |
#राना रखता पास है , सदा श्रेष्ठ सम्मान ||

6

#राना पत्नी से कहे , तुम घर में हो इत्र |
बोली‌ वह यह सूँघना , सीखा कहाँ चरित्र || ? 🙏😇
***
✍️ -राजीव नामदेव “राना लिधौरी”,टीकमगढ़
संपादक “आकांक्षा” पत्रिका
संपादक- ‘अनुश्रुति’ त्रैमासिक बुंदेली ई पत्रिका
जिलाध्यक्ष म.प्र. लेखक संघ टीकमगढ़
अध्यक्ष वनमाली सृजन केन्द्र टीकमगढ़
नई चर्च के पीछे, शिवनगर कालोनी,
टीकमगढ़ (मप्र)-472001
मोबाइल- 9893520965
Email – ranalidhori@gmail.com

246 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
View all
You may also like:
"" *इबादत ए पत्थर* ""
सुनीलानंद महंत
मै ज़ब 2017 मे फेसबुक पर आया आया था
मै ज़ब 2017 मे फेसबुक पर आया आया था
शेखर सिंह
दफ़न हो गई मेरी ख्वाहिशे जाने कितने ही रिवाजों मैं,l
दफ़न हो गई मेरी ख्वाहिशे जाने कितने ही रिवाजों मैं,l
गुप्तरत्न
■सामयिक दोहा■
■सामयिक दोहा■
*Author प्रणय प्रभात*
वक्त से गुज़ारिश
वक्त से गुज़ारिश
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
प्यारी प्यारी सी
प्यारी प्यारी सी
SHAMA PARVEEN
बेटी पढ़ाओ बेटी बचाओ सब कहते हैं।
बेटी पढ़ाओ बेटी बचाओ सब कहते हैं।
राज वीर शर्मा
गुरु के पद पंकज की पनही
गुरु के पद पंकज की पनही
Sushil Pandey
*पत्रिका समीक्षा*
*पत्रिका समीक्षा*
Ravi Prakash
"वो कलाकार"
Dr Meenu Poonia
चन्द्रमाँ
चन्द्रमाँ
Sarfaraz Ahmed Aasee
मुक्तक...छंद पद्मावती
मुक्तक...छंद पद्मावती
डॉ.सीमा अग्रवाल
कहो जय भीम
कहो जय भीम
Jayvind Singh Ngariya Ji Datia MP 475661
लगाओ पता इसमें दोष है किसका
लगाओ पता इसमें दोष है किसका
gurudeenverma198
जुल्मतों के दौर में
जुल्मतों के दौर में
Shekhar Chandra Mitra
"एक कदम"
Dr. Kishan tandon kranti
" जिन्दगी के पल"
Yogendra Chaturwedi
महायुद्ध में यूँ पड़ी,
महायुद्ध में यूँ पड़ी,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
मैं क्या लिखूँ
मैं क्या लिखूँ
Aman Sinha
जीवन है अलग अलग हालत, रिश्ते, में डालेगा और वही अलग अलग हालत
जीवन है अलग अलग हालत, रिश्ते, में डालेगा और वही अलग अलग हालत
पूर्वार्थ
नौ फेरे नौ वचन
नौ फेरे नौ वचन
Dr. Pradeep Kumar Sharma
2537.पूर्णिका
2537.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
आईना मुझसे मेरी पहली सी सूरत  माँगे ।
आईना मुझसे मेरी पहली सी सूरत माँगे ।
Neelam Sharma
कैसे वोट बैंक बढ़ाऊँ? (हास्य कविता)
कैसे वोट बैंक बढ़ाऊँ? (हास्य कविता)
Dr. Kishan Karigar
फ़ितरत नहीं बदलनी थी ।
फ़ितरत नहीं बदलनी थी ।
Buddha Prakash
नेता जी
नेता जी
surenderpal vaidya
आस लगाए बैठे हैं कि कब उम्मीद का दामन भर जाए, कहने को दुनिया
आस लगाए बैठे हैं कि कब उम्मीद का दामन भर जाए, कहने को दुनिया
Shashi kala vyas
या देवी सर्वभूतेषु विद्यारुपेण संस्थिता
या देवी सर्वभूतेषु विद्यारुपेण संस्थिता
Sandeep Kumar
Today's Thought
Today's Thought
DR ARUN KUMAR SHASTRI
राम नाम की प्रीत में, राम नाम जो गाए।
राम नाम की प्रीत में, राम नाम जो गाए।
manjula chauhan
Loading...