Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
13 Sep 2016 · 1 min read

हिंदी दिवस

हिंदी के उत्थान का ,केवल ये उपचार
रोज मना हिंदी दिवस, इसका करो प्रचार
इसका करो प्रचार, इसे दिल से अपनाओ
बच्चों में ये बीज बालपन से उपजाओ
तभी अर्चना भाल , सजेगी जैसे बिंदी
सबके दिल पर राज ,करेगी अपनी हिंदी
डॉ अर्चना गुप्ता

4 Comments · 329 Views
You may also like:
पुस्तकों की पीड़ा
Rakesh Pathak Kathara
भगवान हमारे पापा हैं
Lucky Rajesh
एक जवानी थी
Varun Singh Gautam
बर्षा रानी जल्दी आओ
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
सुविचार
Godambari Negi
"हर घर तिरंगा"देश भक्ती गीत
rubichetanshukla रुबी चेतन शुक्ला
जनतंत्र में
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
फ़ासला
मनोज कर्ण
बेड़ियाँ
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
“ हम महान बनने की चाहत में लोगों से दूर...
DrLakshman Jha Parimal
दूर क्षितिज के पार
लक्ष्मी सिंह
जगदम्बा के स्वागत में आँखें बिछायेंगे।
Manisha Manjari
"हैप्पी बर्थडे हिन्दी"
पंकज कुमार कर्ण
लुटेरों का सरदार
डॉ प्रवीण कुमार श्रीवास्तव, प्रेम
मैं बहती गंगा बन जाऊंगी।
Taj Mohammad
✍️जुबाँ और कलम
'अशांत' शेखर
विरह का सिरा
Rashmi Sanjay
सच और झूठ
श्री रमण 'श्रीपद्'
तल्खिय़ां
Anoop 'Samar'
चयन (लघुकथा)
Ravi Prakash
बुद्ध कहते हैं
Shekhar Chandra Mitra
अवगुणों पर सद्गुणों की जीत का प्रतीक है दशहरा
gurudeenverma198
कला
Saraswati Bajpai
ख्वाब को बाँध दो
Anamika Singh
पंछी हमारा मित्र
AMRESH KUMAR VERMA
पिता
Buddha Prakash
मजदूर -भाग -एक
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
बात बोलेंगे
Dr. Sunita Singh
दादी की कहानी
दुष्यन्त 'बाबा'
माँ
डा. सूर्यनारायण पाण्डेय
Loading...