Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
10 Mar 2017 · 1 min read

हालात से समझवता कर बैठा हूँ …….

हालात से समझवता भी करना पड़ता है
जज्बात से किनारा भी करना पड़ता है
ये सब जीवन के उतार चढ़ाव है
खुद को भी खुदा के सहारे करना पड़ता है
(अवनीश कुमार)

Language: Hindi
200 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
सच का सौदा
सच का सौदा
अरशद रसूल बदायूंनी
"जीवन का प्रमेय"
Dr. Kishan tandon kranti
यह दुनिया है जनाब
यह दुनिया है जनाब
Naushaba Suriya
इंसान कहीं का भी नहीं रहता, गर दिल बंजर हो जाए।
इंसान कहीं का भी नहीं रहता, गर दिल बंजर हो जाए।
Monika Verma
ड़ माने कुछ नहीं
ड़ माने कुछ नहीं
Satish Srijan
जब एक ज़िंदगी है
जब एक ज़िंदगी है
Dr fauzia Naseem shad
गीत
गीत
Shiva Awasthi
क्या कहती है तस्वीर
क्या कहती है तस्वीर
Surinder blackpen
हमारी मंजिल को एक अच्छा सा ख्वाब देंगे हम!
हमारी मंजिल को एक अच्छा सा ख्वाब देंगे हम!
Diwakar Mahto
इतना क्यों व्यस्त हो तुम
इतना क्यों व्यस्त हो तुम
Shiv kumar Barman
फागुन
फागुन
Punam Pande
*राम-विवाह दिवस शुभ आया : कुछ चौपाई*
*राम-विवाह दिवस शुभ आया : कुछ चौपाई*
Ravi Prakash
कवियों की कैसे हो होली
कवियों की कैसे हो होली
महेश चन्द्र त्रिपाठी
उनकी नज़रों में अपना भी कोई ठिकाना है,
उनकी नज़रों में अपना भी कोई ठिकाना है,
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
गजल सगीर
गजल सगीर
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
विषधर
विषधर
Rajesh
मदद
मदद
Dr. Pradeep Kumar Sharma
चोर उचक्के सभी मिल गए नीव लोकतंत्र की हिलाने को
चोर उचक्के सभी मिल गए नीव लोकतंत्र की हिलाने को
इंजी. संजय श्रीवास्तव
मैंने एक दिन खुद से सवाल किया —
मैंने एक दिन खुद से सवाल किया —
SURYA PRAKASH SHARMA
होली
होली
Dr. Kishan Karigar
दोहा
दोहा
sushil sarna
नम आँखे
नम आँखे
Dr. Ramesh Kumar Nirmesh
चराग़ों की सभी ताक़त अँधेरा जानता है
चराग़ों की सभी ताक़त अँधेरा जानता है
अंसार एटवी
इश्क पहली दफा
इश्क पहली दफा
साहित्य गौरव
🙏श्याम 🙏
🙏श्याम 🙏
Vandna thakur
एक आज़ाद परिंदा
एक आज़ाद परिंदा
Shekhar Chandra Mitra
जो हमारे ना हुए कैसे तुम्हारे होंगे।
जो हमारे ना हुए कैसे तुम्हारे होंगे।
Prabhu Nath Chaturvedi "कश्यप"
जीवन संग्राम के पल
जीवन संग्राम के पल
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
स्वार्थ से परे !!
स्वार्थ से परे !!
Seema gupta,Alwar
3340.⚘ *पूर्णिका* ⚘
3340.⚘ *पूर्णिका* ⚘
Dr.Khedu Bharti
Loading...