Sep 3, 2016 · 1 min read

हादसा बता के निकल लिया !

हर बार वही झुकता
सही था ,
गलत बता के निकल लिया !

इश्क़ होता तो रुकता
ज़रुरत को ,
हादसा बता के निकल लिया !

118 Views
You may also like:
हमारी ग़ज़लों पर झूमीं जाती है
Vinit Singh
सही दिशा में
Ratan Kirtaniya
भाग्य का फेर
ओनिका सेतिया 'अनु '
इश्क नज़रों के सामने जवां होता है।
Taj Mohammad
उबारो हे शंकर !
Shailendra Aseem
"निरक्षर-भारती"
Prabhudayal Raniwal
आज की नारी हूँ
Anamika Singh
*!* हट्टे - कट्टे चट्टे - बट्टे *!*
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
अब कहां कोई।
Taj Mohammad
राम
Saraswati Bajpai
"हम ना होंगें"
Lohit Tamta
# पिता ...
Chinta netam मन
मातृदिवस
Dr Archana Gupta
माँ
DR ARUN KUMAR SHASTRI
FATHER IS REAL GOD
KAMAL THAKUR
सृजन कर्ता है पिता।
Taj Mohammad
तरसती रहोगी एक झलक पाने को
N.ksahu0007@writer
पुरी के समुद्र तट पर (1)
Shailendra Aseem
💐💐धड़कता दिल कहे सब कुछ तुम्हारी याद आती है💐💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
चिंता और चिता
VINOD KUMAR CHAUHAN
गौरैया बोली मुझे बचाओ
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
इन नजरों के वार से बचना है।
Taj Mohammad
महाप्रभु वल्लभाचार्य जयंती
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
ऐ जिन्दगी
Anamika Singh
ज़माने की नज़र से।
Taj Mohammad
किसान
Shriyansh Gupta
हंसकर गमों को एक घुट में मैं इस कदर पी...
Krishan Singh
அழியக்கூடிய மற்றும் அழியாத
Shyam Sundar Subramanian
दो शरारती गुड़िया
Prabhudayal Raniwal
वृक्ष की अभिलाषा
डॉ. शिव लहरी
Loading...