Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
16 Jun 2023 · 1 min read

|| हवा चाल टेढ़ी चल रही है ||

|| हवा चाल टेढ़ी चल रही है ||
————————————

भरोसा हम करें
किस पर
हवा भी आजकल की
चाल टेढ़ी चल रही है ।

भटका हुआ सूरज
अंँधेरा बाँटता फिरता
नगर की वीथियों में
दिखावे को बची संवेदना
दम तोड़ती
सर्द होती रीतियों में

हँस रहा
उस पर समय,
लाचार
बूढ़ी चेतना
हाथ केवल मल रही है ।

गर्दन तोड़ देते हैं
मुखौटा ओढ़कर रिश्ते
अपने ही घरों के,
जो कुछ भी हैं जिन्दा
बचे संबंध,
हैं केवल
यहाँ किस्मत भरोसे

बात है अचरज भरी
मर तो चुकी
इंसानियत
साँस अब भी चल रही है ।

था कभी अच्छा समय
अनुकूल
बहती थी हवा
विश्वास के झरोखे से,
लड़खड़ाये भी कदम जो
थाम लेते मीत बन्धु
थे भरोसे के

परिवर्तन का
समय निर्मम
विरासत पीढ़ियों की
देख लो अब ढल रही है ।
••

डॉ.प्रणव गौतम
राजकीय आयुर्वेदिक महाविद्यालय एवं चिकित्सालय हण्डिया, प्रयागराज
मोबाइल 9319531752

3 Likes · 2 Comments · 1105 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
*तेरा इंतज़ार*
*तेरा इंतज़ार*
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
#क्षमा_वीरस्य_भूषणम
#क्षमा_वीरस्य_भूषणम
*Author प्रणय प्रभात*
करम के नांगर  ला भूत जोतय ।
करम के नांगर ला भूत जोतय ।
Lakhan Yadav
हिन्दी दोहे- इतिहास
हिन्दी दोहे- इतिहास
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
अनजाने में भी कोई गलती हो जाये
अनजाने में भी कोई गलती हो जाये
ruby kumari
ज़िंदगी के मर्म
ज़िंदगी के मर्म
Shyam Sundar Subramanian
वक्त
वक्त
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
रिश्ता - दीपक नीलपदम्
रिश्ता - दीपक नीलपदम्
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
కృష్ణా కృష్ణా నీవే సర్వము
కృష్ణా కృష్ణా నీవే సర్వము
डॉ गुंडाल विजय कुमार 'विजय'
2704.*पूर्णिका*
2704.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
"औकात"
Dr. Kishan tandon kranti
धृतराष्ट्र की आत्मा
धृतराष्ट्र की आत्मा
ओनिका सेतिया 'अनु '
People will chase you in 3 conditions
People will chase you in 3 conditions
पूर्वार्थ
हाँ, ये आँखें अब तो सपनों में भी, सपनों से तौबा करती हैं।
हाँ, ये आँखें अब तो सपनों में भी, सपनों से तौबा करती हैं।
Manisha Manjari
पिछले पन्ने 9
पिछले पन्ने 9
Paras Nath Jha
सबला
सबला
Rajesh
सेंसेक्स छुए नव शिखर,
सेंसेक्स छुए नव शिखर,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
पराये सपने!
पराये सपने!
Saransh Singh 'Priyam'
बस मुझे महसूस करे
बस मुझे महसूस करे
Pratibha Pandey
गोलगप्पा/पानीपूरी
गोलगप्पा/पानीपूरी
लक्ष्मी सिंह
धर्म खतरे में है.. का अर्थ
धर्म खतरे में है.. का अर्थ
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
*पूरी करके देह सब, जाते हैं परलोक【कुंडलिया】*
*पूरी करके देह सब, जाते हैं परलोक【कुंडलिया】*
Ravi Prakash
*अंजनी के लाल*
*अंजनी के लाल*
Shashi kala vyas
मैं 🦾गौरव हूं देश 🇮🇳🇮🇳🇮🇳का
मैं 🦾गौरव हूं देश 🇮🇳🇮🇳🇮🇳का
डॉ० रोहित कौशिक
मुझको बे'चैनियाँ जगा बैठी
मुझको बे'चैनियाँ जगा बैठी
Dr fauzia Naseem shad
छह दिसबंर / MUSAFIR BAITHA
छह दिसबंर / MUSAFIR BAITHA
Dr MusafiR BaithA
लड़कियों को विजेता इसलिए घोषित कर देना क्योंकि वह बहुत खूबसू
लड़कियों को विजेता इसलिए घोषित कर देना क्योंकि वह बहुत खूबसू
Rj Anand Prajapati
खुश रहने की कोशिश में
खुश रहने की कोशिश में
Surinder blackpen
Chalo khud se ye wada karte hai,
Chalo khud se ye wada karte hai,
Sakshi Tripathi
वो मुझे प्यार नही करता
वो मुझे प्यार नही करता
Swami Ganganiya
Loading...