Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
27 May 2016 · 1 min read

*हवा का झोंका*

मस्त हवा का झोंका आया
लहराया फ़िर है बलखाया
::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::
वसुधा नाची झूम-झूम कर
अम्बर ने भी गान सुनाया
:::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::
महक उठा है मन का उपवन
खुशबू को इसने बिखराया
::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::
नयी उमंगों का जीवन में
अब तो है परचम फहराया
:::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::
खुशियों को फैला कर के
हर ग़म को है दूर भगाया
:::::::::::::::::::::::::::::::::::::::
धर्मेन्द्र अरोड़ा

Language: Hindi
Tag: कविता
215 Views
You may also like:
अराजकता बंद करो ..
ओनिका सेतिया 'अनु '
हर्फ ए मुश्किल है यूं आसान न समझा जाए
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
वो पहलू में आयें तभी बात होगी।
सत्य कुमार प्रेमी
*दूरंदेशी*
DR ARUN KUMAR SHASTRI
फेसबुक की दुनिया
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
पानी का दर्द
Anamika Singh
बुद्ध ही बुद्ध
Shekhar Chandra Mitra
Fear From Freedom
AJAY AMITABH SUMAN
My Expressions
Shyam Sundar Subramanian
अपना देश
shabina. Naaz
लौह पुरुष सरदार
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
एक छोटी सी बात
Hareram कुमार प्रीतम
पिता का दर्द
Nitu Sah
✍️अपना ही सवाल✍️
'अशांत' शेखर
अध्यापक दिवस
Satpallm1978 Chauhan
श्रद्धा
मनोज कर्ण
काश
Harshvardhan "आवारा"
दिल मुझसे लगाकर,औरों से लगाया न करो
Ram Krishan Rastogi
मनुष्यस्य शरीर: तथा परमात्माप्राप्ति:
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
【34】*!!* आग दबाये मत रखिये *!!*
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
जी उठती हूं...तड़प उठती हूं...
Seema 'Tu hai na'
*जिधर देखो उधर कुत्ते (हिंदी गजल/गीतिका)*
Ravi Prakash
इंसानियत बनाती है
gurudeenverma198
ख़्वाब पर लिखे अशआर
Dr fauzia Naseem shad
दुनियां फना हो जानी है।
Taj Mohammad
खेलता ख़ुद आग से है
Shivkumar Bilagrami
सदा बढता है,वह 'नायक', अमल बन ताज ठुकराता|
Pt. Brajesh Kumar Nayak
वही मित्र है
Kavita Chouhan
'नील गगन की छाँव'
Godambari Negi
लता मंगेशकर
AMRESH KUMAR VERMA
Loading...