Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
5 Apr 2024 · 1 min read

हर तूफ़ान के बाद खुद को समेट कर सजाया है

हर तूफ़ान के बाद खुद को समेट कर सजाया है
देख कर लोग हमें,पत्थर से बना समझने लगे
वक्त के थपेड़ो से लड़कर,जीना ‘क्या;सिख गये
मतलब नहीं रखने को,वो अब बदगुमान कहने लगे

55 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
मेरा भारत जिंदाबाद
मेरा भारत जिंदाबाद
Satish Srijan
चाय और राय,
चाय और राय,
शेखर सिंह
बेटियां
बेटियां
Madhavi Srivastava
*विभाजित जगत-जन! यह सत्य है।*
*विभाजित जगत-जन! यह सत्य है।*
संजय कुमार संजू
लाल बचा लो इसे जरा👏
लाल बचा लो इसे जरा👏
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
शीर्षक:जय जय महाकाल
शीर्षक:जय जय महाकाल
Dr Manju Saini
دل کا
دل کا
Dr fauzia Naseem shad
दिहाड़ी मजदूर
दिहाड़ी मजदूर
Vishnu Prasad 'panchotiya'
*मिलते जीवन में गुरु, सच्चे तो उद्धार【कुंडलिया】*
*मिलते जीवन में गुरु, सच्चे तो उद्धार【कुंडलिया】*
Ravi Prakash
'बेटी बचाओ-बेटी पढाओ'
'बेटी बचाओ-बेटी पढाओ'
Bodhisatva kastooriya
गुरु ही साक्षात ईश्वर
गुरु ही साक्षात ईश्वर
krishna waghmare , कवि,लेखक,पेंटर
रंगों की दुनिया में हम सभी रहते हैं
रंगों की दुनिया में हम सभी रहते हैं
Neeraj Agarwal
* बताएं किस तरह तुमको *
* बताएं किस तरह तुमको *
surenderpal vaidya
मुक्तक
मुक्तक
sushil sarna
కృష్ణా కృష్ణా నీవే సర్వము
కృష్ణా కృష్ణా నీవే సర్వము
डॉ गुंडाल विजय कुमार 'विजय'
"इन्तहा"
Dr. Kishan tandon kranti
Dr. Arun Kumar shastri
Dr. Arun Kumar shastri
DR ARUN KUMAR SHASTRI
"कटप्पा ने बाहुबली को क्यों मारा" से भी बड़ा सवाल-
*प्रणय प्रभात*
रंगीला बचपन
रंगीला बचपन
Dr. Pradeep Kumar Sharma
उम्रभर
उम्रभर
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
जिंदगी भर ख्वाहिशों का बोझ तमाम रहा,
जिंदगी भर ख्वाहिशों का बोझ तमाम रहा,
manjula chauhan
रिसाइकल्ड रिश्ता - नया लेबल
रिसाइकल्ड रिश्ता - नया लेबल
Atul "Krishn"
तमन्ना उसे प्यार से जीत लाना।
तमन्ना उसे प्यार से जीत लाना।
सत्य कुमार प्रेमी
जाकर वहाँ मैं क्या करुँगा
जाकर वहाँ मैं क्या करुँगा
gurudeenverma198
Stop use of Polythene-plastic
Stop use of Polythene-plastic
Tushar Jagawat
तुम गए जैसे, वैसे कोई जाता नहीं
तुम गए जैसे, वैसे कोई जाता नहीं
Manisha Manjari
आइए जनाब
आइए जनाब
Surinder blackpen
वर्तमान
वर्तमान
Shyam Sundar Subramanian
गज़ल
गज़ल
करन ''केसरा''
भोले नाथ तेरी सदा ही जय
भोले नाथ तेरी सदा ही जय
नेताम आर सी
Loading...