Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
16 Feb 2024 · 1 min read

हर एक मंजिल का अपना कहर निकला

हर एक मंजिल का अपना कहर निकला
चंद अपने थे और तमाशा ए शहर निकला

जिसको दूर से हमनें देखा मंजिल की तरह
वो मिराज की तरह पानी सा लहर निकला

✍️Kavi Deepak saral

1 Like · 81 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
तेरे जाने के बाद ....
तेरे जाने के बाद ....
ओनिका सेतिया 'अनु '
साथ अगर उनका होता
साथ अगर उनका होता
gurudeenverma198
दो घूंट
दो घूंट
संजय कुमार संजू
*.....मै भी उड़ना चाहती.....*
*.....मै भी उड़ना चाहती.....*
Naushaba Suriya
2505.पूर्णिका
2505.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
रेलगाड़ी
रेलगाड़ी
डॉ. श्री रमण 'श्रीपद्'
मुझे भी लगा था कभी, मर्ज ऐ इश्क़,
मुझे भी लगा था कभी, मर्ज ऐ इश्क़,
डी. के. निवातिया
"लफ़्ज़ भी आन बान होते हैं।
*Author प्रणय प्रभात*
भारत के वीर जवान
भारत के वीर जवान
Mukesh Kumar Sonkar
बेटीयां
बेटीयां
Aman Kumar Holy
अम्बे भवानी
अम्बे भवानी
Mamta Rani
अक्सर लोग सोचते हैं,
अक्सर लोग सोचते हैं,
करन ''केसरा''
विचार और भाव-1
विचार और भाव-1
कवि रमेशराज
भीतर का तूफान
भीतर का तूफान
Sandeep Pande
संघर्ष हमारा जीतेगा,
संघर्ष हमारा जीतेगा,
Shweta Soni
गीतिका-
गीतिका-
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
हां मैं इक तरफ खड़ा हूं, दिल में कोई कश्मकश नहीं है।
हां मैं इक तरफ खड़ा हूं, दिल में कोई कश्मकश नहीं है।
Sanjay ' शून्य'
"लड़कर जीना"
Dr. Kishan tandon kranti
होली गीत
होली गीत
Kanchan Khanna
मंज़र
मंज़र
अखिलेश 'अखिल'
डिजिटलीकरण
डिजिटलीकरण
Seema gupta,Alwar
पत्नी
पत्नी
Acharya Rama Nand Mandal
*भाता है सब को सदा ,पर्वत का हिमपात (कुंडलिया)*
*भाता है सब को सदा ,पर्वत का हिमपात (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
ये  दुनियाँ है  बाबुल का घर
ये दुनियाँ है बाबुल का घर
Sushmita Singh
विचार
विचार
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
तमाशबीन जवानी
तमाशबीन जवानी
Shekhar Chandra Mitra
जिस घर में---
जिस घर में---
लक्ष्मी सिंह
मेले
मेले
Punam Pande
💐प्रेम कौतुक-269💐
💐प्रेम कौतुक-269💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
हार स्वीकार कर
हार स्वीकार कर
रोहताश वर्मा 'मुसाफिर'
Loading...