Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
18 Jul 2016 · 1 min read

हम सबयकायर कहलायेंगे।

***********************************
घर में घुस आये अरि को यदि सबक नहीं सिखलायेंगे।
सिंहासन के साथ साथ हम सब कायर कहलायेंगे।
आने वाली संतति हम पर थूकेगी, गाली देगी।
इतिहासों के पन्ने हम सबको मुजरिम दर्शायेंगे।।

****************************************

प्रदीप कुमार

Language: Hindi
1 Comment · 520 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
■ शिक्षक दिवस की पूर्व संध्या पर एक विशेष कविता...
■ शिक्षक दिवस की पूर्व संध्या पर एक विशेष कविता...
*प्रणय प्रभात*
दवा और दुआ में इतना फर्क है कि-
दवा और दुआ में इतना फर्क है कि-
संतोष बरमैया जय
!! सुविचार !!
!! सुविचार !!
विनोद कृष्ण सक्सेना, पटवारी
कठिन समय रहता नहीं
कठिन समय रहता नहीं
Atul "Krishn"
"उपकार"
Dr. Kishan tandon kranti
संबंधों के नाम बता दूँ
संबंधों के नाम बता दूँ
Suryakant Dwivedi
जीवन
जीवन
Bodhisatva kastooriya
यूं बातें भी ज़रा सी क्या बिगड़ गई,
यूं बातें भी ज़रा सी क्या बिगड़ गई,
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
आपके द्वारा हुई पिछली गलतियों को वर्तमान में ना दोहराना ही,
आपके द्वारा हुई पिछली गलतियों को वर्तमान में ना दोहराना ही,
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
वेलेंटाइन डे एक व्यवसाय है जिस दिन होटल और बॉटल( शराब) नशा औ
वेलेंटाइन डे एक व्यवसाय है जिस दिन होटल और बॉटल( शराब) नशा औ
Rj Anand Prajapati
यूं ही नहीं मिल जाती मंजिल,
यूं ही नहीं मिल जाती मंजिल,
Sunil Maheshwari
बरसात
बरसात
Swami Ganganiya
काम न आये
काम न आये
Dr fauzia Naseem shad
चरणों में सौ-सौ अभिनंदन ,शिक्षक तुम्हें प्रणाम है (गीत)
चरणों में सौ-सौ अभिनंदन ,शिक्षक तुम्हें प्रणाम है (गीत)
Ravi Prakash
The best time to learn.
The best time to learn.
पूर्वार्थ
चाहत मोहब्बत और प्रेम न शब्द समझे.....
चाहत मोहब्बत और प्रेम न शब्द समझे.....
Neeraj Agarwal
नहीं तेरे साथ में कोई तो क्या हुआ
नहीं तेरे साथ में कोई तो क्या हुआ
gurudeenverma198
#उलझन
#उलझन
krishna waghmare , कवि,लेखक,पेंटर
हुई नैन की नैन से,
हुई नैन की नैन से,
sushil sarna
3663.💐 *पूर्णिका* 💐
3663.💐 *पूर्णिका* 💐
Dr.Khedu Bharti
हमने उसको देखा, नजरों ने कुछ और देखा,,
हमने उसको देखा, नजरों ने कुछ और देखा,,
SPK Sachin Lodhi
शक
शक
Paras Nath Jha
प्यार हमें
प्यार हमें
SHAMA PARVEEN
कर्म ही है श्रेष्ठ
कर्म ही है श्रेष्ठ
Sandeep Pande
*हुस्न से विदाई*
*हुस्न से विदाई*
Dushyant Kumar
काव्य
काव्य
हिमांशु बडोनी (दयानिधि)
जय माता दी -
जय माता दी -
Raju Gajbhiye
"शहीद साथी"
Lohit Tamta
15🌸बस तू 🌸
15🌸बस तू 🌸
Mahima shukla
सत्य की खोज
सत्य की खोज
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
Loading...