Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
27 Feb 2023 · 1 min read

हम मुहब्बत कर रहे थे

हम मुहब्बत कर रहे थे
और तुम…….
सियासत पे आ गए!!!!!

1 Like · 177 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from shabina. Naaz
View all
You may also like:
वसंततिलका छन्द
वसंततिलका छन्द
Neelam Sharma
डॉ अरुण कुमार शास्त्री
डॉ अरुण कुमार शास्त्री
DR ARUN KUMAR SHASTRI
🥀 *अज्ञानी की कलम*🥀
🥀 *अज्ञानी की कलम*🥀
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
सौ बार मरता है
सौ बार मरता है
sushil sarna
सपनो का सफर संघर्ष लाता है तभी सफलता का आनंद देता है।
सपनो का सफर संघर्ष लाता है तभी सफलता का आनंद देता है।
पूर्वार्थ
विचार
विचार
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
तेरे इंतज़ार में
तेरे इंतज़ार में
Surinder blackpen
आधुनिक परिवेश में वर्तमान सामाजिक जीवन
आधुनिक परिवेश में वर्तमान सामाजिक जीवन
Shyam Sundar Subramanian
धर्मी जब खुल कर नंगे होते हैं।
धर्मी जब खुल कर नंगे होते हैं।
Dr MusafiR BaithA
कैसे हो गया बेखबर तू , हमें छोड़कर जाने वाले
कैसे हो गया बेखबर तू , हमें छोड़कर जाने वाले
gurudeenverma198
वीर सुरेन्द्र साय
वीर सुरेन्द्र साय
Dr. Pradeep Kumar Sharma
फितरत
फितरत
Mukesh Kumar Sonkar
अपनी सोच का शब्द मत दो
अपनी सोच का शब्द मत दो
Mamta Singh Devaa
रिश्ता कमज़ोर
रिश्ता कमज़ोर
Dr fauzia Naseem shad
"वोटर जिन्दा है"
Dr. Kishan tandon kranti
सम्भाला था
सम्भाला था
भरत कुमार सोलंकी
ग़ज़ल
ग़ज़ल
Mahendra Narayan
#क़तआ (मुक्तक)
#क़तआ (मुक्तक)
*Author प्रणय प्रभात*
जो ले जाये उस पार दिल में ऐसी तमन्ना न रख
जो ले जाये उस पार दिल में ऐसी तमन्ना न रख
भवानी सिंह धानका 'भूधर'
मुहब्बत
मुहब्बत
अखिलेश 'अखिल'
हमें उम्र ने नहीं हालात ने बड़ा किया है।
हमें उम्र ने नहीं हालात ने बड़ा किया है।
Kavi Devendra Sharma
*चंद्रयान (बाल कविता)*
*चंद्रयान (बाल कविता)*
Ravi Prakash
2578.पूर्णिका
2578.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
आलता-महावर
आलता-महावर
Pakhi Jain
पार्वती
पार्वती
लक्ष्मी सिंह
चोंच से सहला रहे हैं जो परों को
चोंच से सहला रहे हैं जो परों को
Shivkumar Bilagrami
चन्द ख्वाब
चन्द ख्वाब
Kshma Urmila
चरित्र साफ शब्दों में कहें तो आपके मस्तिष्क में समाहित विचार
चरित्र साफ शब्दों में कहें तो आपके मस्तिष्क में समाहित विचार
Rj Anand Prajapati
रोटियों से भी लड़ी गयी आज़ादी की जंग
रोटियों से भी लड़ी गयी आज़ादी की जंग
कवि रमेशराज
नम आँखे
नम आँखे
Dr. Ramesh Kumar Nirmesh
Loading...