Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
18 Mar 2024 · 1 min read

हमारी समस्या का समाधान केवल हमारे पास हैl

हमारी समस्या का समाधान केवल हमारे पास हैl
दूसरे के पास तो केवल सुझाव है ll

40 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
संवेदनाएं
संवेदनाएं
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
एक ऐसी दुनिया बनाऊँगा ,
एक ऐसी दुनिया बनाऊँगा ,
Rohit yadav
बहुत कड़ा है सफ़र थोड़ी दूर साथ चलो
बहुत कड़ा है सफ़र थोड़ी दूर साथ चलो
Vishal babu (vishu)
रण
रण
सुशील मिश्रा ' क्षितिज राज '
*गर्मी देती नहीं दिखाई【बाल कविता-गीतिका】*
*गर्मी देती नहीं दिखाई【बाल कविता-गीतिका】*
Ravi Prakash
जब तुम आए जगत में, जगत हंसा तुम रोए।
जब तुम आए जगत में, जगत हंसा तुम रोए।
Dr MusafiR BaithA
नववर्ष पर मुझको उम्मीद थी
नववर्ष पर मुझको उम्मीद थी
gurudeenverma198
गायब हुआ तिरंगा
गायब हुआ तिरंगा
आर एस आघात
नये शिल्प में रमेशराज की तेवरी
नये शिल्प में रमेशराज की तेवरी
कवि रमेशराज
■ ज़ुबान संभाल के...
■ ज़ुबान संभाल के...
*Author प्रणय प्रभात*
ठंडक
ठंडक
विनोद वर्मा ‘दुर्गेश’
अंग प्रदर्शन करने वाले जितने भी कलाकार है उनके चरित्र का अस्
अंग प्रदर्शन करने वाले जितने भी कलाकार है उनके चरित्र का अस्
Rj Anand Prajapati
आइए जनाब
आइए जनाब
Surinder blackpen
देव उठनी
देव उठनी
विनोद कृष्ण सक्सेना, पटवारी
जनता हर पल बेचैन
जनता हर पल बेचैन
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
प्रिय भतीजी के लिए...
प्रिय भतीजी के लिए...
डॉ.सीमा अग्रवाल
वसंततिलका छन्द
वसंततिलका छन्द
Neelam Sharma
रोजी न रोटी, हैं जीने के लाले।
रोजी न रोटी, हैं जीने के लाले।
सत्य कुमार प्रेमी
रक्षाबंधन
रक्षाबंधन
Dr. Pradeep Kumar Sharma
आप हाथो के लकीरों पर यकीन मत करना,
आप हाथो के लकीरों पर यकीन मत करना,
शेखर सिंह
"अच्छे साहित्यकार"
Dr. Kishan tandon kranti
छोटी- छोटी प्रस्तुतियों को भी लोग पढ़ते नहीं हैं, फिर फेसबूक
छोटी- छोटी प्रस्तुतियों को भी लोग पढ़ते नहीं हैं, फिर फेसबूक
DrLakshman Jha Parimal
!! हे उमां सुनो !!
!! हे उमां सुनो !!
Chunnu Lal Gupta
शिक्षा का महत्व
शिक्षा का महत्व
Dinesh Kumar Gangwar
3391⚘ *पूर्णिका* ⚘
3391⚘ *पूर्णिका* ⚘
Dr.Khedu Bharti
जमाने की नजरों में ही रंजीश-ए-हालात है,
जमाने की नजरों में ही रंजीश-ए-हालात है,
manjula chauhan
दीप की अभिलाषा।
दीप की अभिलाषा।
Kuldeep mishra (KD)
अपने किरदार को किसी से कम आकना ठीक नहीं है .....
अपने किरदार को किसी से कम आकना ठीक नहीं है .....
कवि दीपक बवेजा
दिल ए तकलीफ़
दिल ए तकलीफ़
Dr fauzia Naseem shad
सरस्वती बंदना
सरस्वती बंदना
Basant Bhagawan Roy
Loading...