Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
26 Feb 2023 · 1 min read

हजारों रंग दुनिया में

हजारों रंग दुनिया में
पर सब से प्यारा
प्यार का रंग

193 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from shabina. Naaz
View all
You may also like:
अंधेरे में
अंधेरे में
Santosh Shrivastava
समाप्त हो गई परीक्षा
समाप्त हो गई परीक्षा
Vansh Agarwal
मैं  गुल  बना  गुलशन  बना  गुलफाम   बना
मैं गुल बना गुलशन बना गुलफाम बना
भवानी सिंह धानका 'भूधर'
बता दिया करो मुझसे मेरी गलतिया!
बता दिया करो मुझसे मेरी गलतिया!
शेखर सिंह
मरा नहीं हूं इसीलिए अभी भी जिंदा हूं ,
मरा नहीं हूं इसीलिए अभी भी जिंदा हूं ,
Manju sagar
"यादें"
Yogendra Chaturwedi
बिटिया
बिटिया
Mukta Rashmi
विनती
विनती
Dr. Upasana Pandey
चोट
चोट
आकांक्षा राय
"राजनीति में जोश, जुबाँ, ज़मीर, जज्बे और जज्बात सब बदल जाते ह
डॉ.एल. सी. जैदिया 'जैदि'
मेरी मलम की माँग
मेरी मलम की माँग
Anil chobisa
अंधे रेवड़ी बांटने में लगे
अंधे रेवड़ी बांटने में लगे
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
प्रदर्शन
प्रदर्शन
Sanjay ' शून्य'
ख्वाहिश
ख्वाहिश
Omee Bhargava
इस महफ़िल में तमाम चेहरे हैं,
इस महफ़िल में तमाम चेहरे हैं,
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
ढ़ांचा एक सा
ढ़ांचा एक सा
Pratibha Pandey
यह तो अब तुम ही जानो
यह तो अब तुम ही जानो
gurudeenverma198
#धोती (मैथिली हाइकु)
#धोती (मैथिली हाइकु)
Dinesh Yadav (दिनेश यादव)
3136.*पूर्णिका*
3136.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
#अद्भुत_प्रसंग
#अद्भुत_प्रसंग
*प्रणय प्रभात*
प्रभु का प्राकट्य
प्रभु का प्राकट्य
Anamika Tiwari 'annpurna '
भगवान भले ही मंदिर, मस्जिद, गुरुद्वारा, और चर्च में न मिलें
भगवान भले ही मंदिर, मस्जिद, गुरुद्वारा, और चर्च में न मिलें
Sonam Puneet Dubey
जितना तुझे लिखा गया , पढ़ा गया
जितना तुझे लिखा गया , पढ़ा गया
ब्रजनंदन कुमार 'विमल'
संत गोस्वामी तुलसीदास
संत गोस्वामी तुलसीदास
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
# कुछ देर तो ठहर जाओ
# कुछ देर तो ठहर जाओ
Koमल कुmari
सब तेरा है
सब तेरा है
Swami Ganganiya
तेरी आंखों में है जादू , तेरी बातों में इक नशा है।
तेरी आंखों में है जादू , तेरी बातों में इक नशा है।
B S MAURYA
परिपक्वता
परिपक्वता
लक्ष्मी वर्मा प्रतीक्षा
“ऐसी दोस्ती”
“ऐसी दोस्ती”
DrLakshman Jha Parimal
ये ज़िंदगी भी गरीबों को सताती है,
ये ज़िंदगी भी गरीबों को सताती है,
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
Loading...