Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
6 Mar 2022 · 1 min read

स्वाधीनता

हर एक मनुज की एक चाह
होती बस स्वाधीनता हमारी
कोई भी मनुष्य इस भुवन में
रहना चाहता नहीं दासत्व में ।

जीव, जंतु हो या फिर मानुष
रहना चाहता नहीं पराधीन में
सबको प्यारी होती है अपनी
स्वाधीनता भरी अपनी दुनिया ।

जयन्त की पक्षी से पूछो
क्या है उनका हालचाल ?
उड्डयन के लिए पर उनके
रहते होंगे कितने व्याकुल ।

हमें किसी को कभी भी यहां
करना चाहिए नहीं परितंत्र
हरेक प्रणीवान आत्मा को
स्वतंत्रता का दृढ़ है प्रभुत्व ।

सब आजादी की इस दुनिया में
लेना चाहता स्वाधीनता की दम
हमें कभी भी किसी प्राणी को
दासता में बांधने का न है स्वत्व ।

अमरेश कुमार वर्मा
जवाहर नवोदय विद्यालय बेगूसराय, बिहार

Language: Hindi
2 Likes · 1 Comment · 235 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
গাছের নীরবতা
গাছের নীরবতা
Otteri Selvakumar
तुमसे ज्यादा और किसको, यहाँ प्यार हम करेंगे
तुमसे ज्यादा और किसको, यहाँ प्यार हम करेंगे
gurudeenverma198
*खड़ी हूँ अभी उसी की गली*
*खड़ी हूँ अभी उसी की गली*
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
■ एक और शेर...
■ एक और शेर...
*Author प्रणय प्रभात*
2452.पूर्णिका
2452.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
*क्यों बुद्ध मैं कहलाऊं?*
*क्यों बुद्ध मैं कहलाऊं?*
Lokesh Singh
हाथों की लकीरों को हम किस्मत मानते हैं।
हाथों की लकीरों को हम किस्मत मानते हैं।
Neeraj Agarwal
कुछ नींदों से ख़्वाब उड़ जाते हैं
कुछ नींदों से ख़्वाब उड़ जाते हैं
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
शिशिर ऋतु-३
शिशिर ऋतु-३
Vishnu Prasad 'panchotiya'
Quote - If we ignore others means we ignore society. This way we ign
Quote - If we ignore others means we ignore society. This way we ign
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
सादगी तो हमारी जरा……देखिए
सादगी तो हमारी जरा……देखिए
shabina. Naaz
सब छोड़कर अपने दिल की हिफाजत हम भी कर सकते है,
सब छोड़कर अपने दिल की हिफाजत हम भी कर सकते है,
Vaishnavi Gupta (Vaishu)
रिश्तो मे गलतफ़हमी
रिश्तो मे गलतफ़हमी
Anamika Singh
कांग्रेस की आत्महत्या
कांग्रेस की आत्महत्या
Sanjay ' शून्य'
Rap song (3)
Rap song (3)
Nishant prakhar
* बेटियां *
* बेटियां *
surenderpal vaidya
सावन के पर्व-त्योहार
सावन के पर्व-त्योहार
लक्ष्मी सिंह
हम तेरे शरण में आए है।
हम तेरे शरण में आए है।
Buddha Prakash
माफी
माफी
Dr. Pradeep Kumar Sharma
डरो नहीं, लड़ो
डरो नहीं, लड़ो
Shekhar Chandra Mitra
"शाश्वत"
Dr. Kishan tandon kranti
'एकला चल'
'एकला चल'
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
*हमारे देवता जितने हैं, सारे शस्त्रधारी हैं (हिंदी गजल)*
*हमारे देवता जितने हैं, सारे शस्त्रधारी हैं (हिंदी गजल)*
Ravi Prakash
बात सीधी थी
बात सीधी थी
Dheerja Sharma
Teri gunehgar hu mai ,
Teri gunehgar hu mai ,
Sakshi Tripathi
तेरी आदत सी हो गई दिल को
तेरी आदत सी हो गई दिल को
Dr fauzia Naseem shad
अजीब सी चुभन है दिल में
अजीब सी चुभन है दिल में
हिमांशु Kulshrestha
*अभी तो रास्ता शुरू हुआ है.*
*अभी तो रास्ता शुरू हुआ है.*
Naushaba Suriya
रूपसी
रूपसी
Prakash Chandra
सबसे ज्यादा विश्वासघात
सबसे ज्यादा विश्वासघात
ruby kumari
Loading...